वैक्सीन के बाद अब कफन भी मुफ्त! जानिये, किस सरकार ने की ये घोषणा

कोरोना काल में केंद्र के साथ ही राज्य सरकारें भी तरह-तरह की घोषणाएं कर रही हैं। यहां तक कि देश की एक प्रदेश सरकार ने कोरोना से मरने वालों को मुफ्त कफन उपलब्ध कराने की घोषणा कर दी है।

कोरोना की दूसरी लहर की सुनामी से धीरे-धीरे उबर रहे देश के कई राज्यों में अभी भी टेंशन बढ़ी हुई है। तमिलनाडु और झारखंड जैसे प्रदेशों में अभी भी कोरोना संक्रमण काफी बढ़ा हुआ है।  इस स्थिति में राज्य सरकार की ओर से तरह-तरह की घोषणाएं कर राजनैतिकि लाभ लेने की कोशिश की जा रही है। इसी कड़ी में झारखंड की हेमंत सोरेन सरकार ने कोरोना से जान गंवा देने वाले लोगों को मुफ्त कफन उपलब्ध कराने की घोषणा की है। उसकी इस घोषणा के बाद विपक्ष हमलावर हो गया है।

भारतीय जनता पार्टी ने झारखंड सरकार की इस घोषणा की आलोचना की है। पार्टी का कहना है कि सीएम की इस तरह की घोषणा अमानवीय है। उन्हें कफन के बदले दवाइयों की घोषणा करनी चाहिए थी। भारतीय जनता पार्टी की आलोचना के बाद सोरेन की पार्टी झारखंड मुक्ति मोर्चा ने पलटवार किया है। इस कारण सीएम की इस घोषणा ने राजनैतिक रंग ले लिया है।

भाजपा ने किया हमला
बता दें कि इस घोषणा पर भाजपा नेता दीपक प्रकाश ने ट्वीट कर सोरेन सरकार पर हमला बोला है,’यह अजीब विडंबना है कि जहां केंद्र सरकार देशवासियों की जान बचाने के लिए युद्ध स्तर पर प्रयास कर रही है, वहीं झारखंड की गठबंधन सरकार जनता को मुफ्त में कफन बांटने की घोषणा कर रही है।’

ये भी पढ़ेंः ब्लैक फंगस पर महाराष्ट्र सरकार की बड़ी घोषणा!

झामुमो ने किया पलटवार
भारतीय जनता पार्टी के इस हमले पर झामुमो ने पलटवार किया है। पार्टी की ओर से ट्वीट कर कहा गया है, ‘आप और आपकी पार्टी को केवल कफन नजर आता है। हेमंत सरकार निशुल्क वैक्सीन भी दे रही है। इसके साथ ही झामुमो ने उत्तर प्रदेश में गंगा में मिलने वाले शवों को लेकर भी तंज कसा है। झामुमो ने कहा है ,’आपके उत्तम प्रदेश में गंगा में तैरते शव, रेत में दबे गरीब के शव कुत्तों और गिद्धों द्वारा नोचे जा रहे हैं। ये नजारा शायद आपको पसंद है। किसी की मौत के बाद कफन नसीब होने देना आपको रास नहीं आ रहा है। आपका बस चले तो कफन का कारोबर भी किसी उद्योगपति को बेच दें।’

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here