भारत-इजरायल के बीच रणनीतिक और रक्षा सहयोग को मिलेगा बल

इजरायल के रक्षा मंत्री की यह यात्रा तब हो रही है जब दोनों देश राजनयिक संबंधों की स्थापना के 30 साल पूरे होने का जश्न मना रहे हैं।

भारत के एक दिवसीय दौरे पर आए इजरायल के रक्षामंत्री बेंजामिन गैंट्ज ने 2 जून को नई दिल्ली में रक्षामंत्री राजनाथ सिंह के साथ भेंट की। इसके बाद दोनों रक्षा मंत्रियों के बीच द्विपक्षीय बैठक हुई। इसमें रक्षा सहयोग, वैश्विक और क्षेत्रीय परिदृश्य से संबंधित प्रमुख मुद्दों पर चर्चा हुई। द्विपक्षीय रणनीतिक और रक्षा सहयोग मजबूत करने पर दोनों देशों के बीच व्यापक सहमति बनी है।

द्विपक्षीय बैठक के बाद राजनाथ सिंह ने ट्वीट कर बताया कि हम इजरायल के साथ अपनी सामरिक साझेदारी को बहुत महत्व देते हैं। दोनों देशों ने एक ‘विजन स्टेटमेंट’ अपनाया है, जो भविष्य में रक्षा सहयोग का मार्ग प्रशस्त करेगा। द्विपक्षीय रणनीतिक और रक्षा सहयोग को और मजबूत करने पर दोनों देशों के बीच व्यापक सहमति है। इजरायल के रक्षा मंत्री बेंजामिन गैंट्ज ने 2 जून को रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की उपस्थिति में राष्ट्रीय युद्ध स्मारक पर माल्यार्पण करके शहीदों को श्रद्धांजलि दी। यहां उन्हें त्रि-सेवा गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया।

ये भी पढ़ें – साकीनाका की निर्भया को मिला न्याय, दोषी को मौत की सजा का आदेश

नरेन्द्र मोदी से भी मुलाकात
इजरायल के रक्षा मंत्री बेनी गैंट्ज की प्रधान मंत्री नरेन्द्र मोदी से भी मुलाकात होनी है। इजरायली मंत्री गैंट्ज के साथ चीफ ऑफ स्टाफ मायन इजरायली, अंतरराष्ट्रीय रक्षा सहयोग निदेशालय के प्रमुख ब्रिगेडियर जनरल यायर कुलासो, नीति और पीओएल-एमआईएल ब्यूरो के निदेशक डॉर शालोम और सैन्य सचिव बीजी याकी डॉल्फ भारत दौरे पर आये हैं। यात्रा के दौरान दोनों पक्ष इजरायल और भारत के बीच 30 साल के राजनयिक और रक्षा संबंधों को चिह्नित करते हुए एक समझौते पर हस्ताक्षर करेंगे।

स्मारक लोगो लॉन्च
इजरायल के रक्षा मंत्री की यह यात्रा तब हो रही है जब दोनों देश राजनयिक संबंधों की स्थापना के 30 साल पूरे होने का जश्न मना रहे हैं। भारत और इजरायल ने 29 जनवरी, 1992 को पूर्ण राजनयिक संबंध स्थापित किए और इस साल की शुरुआत में एक स्मारक लोगो लॉन्च किया गया। इस बीच भारत और इस्राइल ने रक्षा संबंध बढ़ाए हैं। भारतीय जहाजों की नियमित सद्भावना यात्राओं के हिस्से के रूप में पश्चिमी बेड़े के तीन भारतीय नौसैनिक जहाजों ने मई, 2017 में हाइफा में बंदरगाह का दौरा किया। नौसेना प्रशिक्षण जहाज आईएनएस तरंगिनी ने सितंबर, 2018 में भी हाइफा का दौरा किया था।

‘ब्लू फ्लैग’ इजरायल में किया आयोजित
बहुपक्षीय वायु सेना अभ्यास ‘ब्लू फ्लैग’ अक्टूबर, 2021 में इजरायल में आयोजित किया गया था। जिसमें भारत ने भी हिस्सा लिया था। भारत के रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (डीआरडीओ) और इजरायल के रक्षा अनुसंधान एवं विकास निदेशालय ने नवंबर, 2021 में द्विपक्षीय नवाचार समझौते पर हस्ताक्षर किए। पिछले साल भारत के विदेश मंत्री डॉ. एस जयशंकर ने अक्टूबर में, तत्कालीन भारतीय सेना प्रमुख जनरल एमएम नरवणे ने नवंबर में और वायु सेना प्रमुख आरकेएस भदौरिया ने अगस्त में इजरायल का दौरा किया था। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भी 2017 में इजरायल का दौरा किया था, जिसमें संबंधों को रणनीतिक साझेदारी में अपग्रेड किया गया था। इसके बाद इजरायल के तत्कालीन प्रधान मंत्री बेंजामिन नेतन्याहू 2018 में भारत यात्रा पर आये थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here