हिंदुत्व को कमजोर करने के लिए बना I.N.D.I.A. गठबंधन : हिमंत विश्व शर्मा

देश में आगामी लोकसभा चुनाव में राष्ट्रीयता की लड़ाई होगी। यह चुनाव सिविलाइजेशन की लड़ाई होगी। इसमें हमारी सभ्यता और संस्कृति की लड़ाई होगी। मुझे विश्वास है कि हमारे भारत के लोग सनातन संस्कृति को सुरक्षित रखेंगे।

214

असम के मुख्यमंत्री हिमंत विश्व शर्मा (Himanta Vishwa Sharma) ने 15 सितंबर को कहा कि I.N.D.I.A. गठबंधन सनातन को कमजोर करने के लिए बना है। उन्होंने कहा कि विपक्षी दलों का जो गठबंधन हुआ है इसका असली मकसद है भारत के हिंदुत्व (Hindutva) को कमजोर करना। साथ ही सनातन संस्कृति के खिलाफ जाकर काम करना।

सभ्यता और संस्कृति को बर्बाद करने का मकसद
बिहार के नालंदा में आयोजित एक कार्यक्रम में शिरकत करने राजधानी पटना पहुंचे हिमंत विश्व शर्मा ने पत्रकारों से बात करते कहा कि मुम्बई की बैठक में इन्होंने तय किया है कि देश से सनातन संस्कृति को खत्म कर देना है। विपक्षी गठबंधन का मकसद ही हमारी सभ्यता और संस्कृति (Culture) को बर्बाद करना है।

आगामी लोकसभा चुनाव में राष्ट्रीयता की लड़ाई
उन्होंने कहा कि देश में आगामी लोकसभा चुनाव में राष्ट्रीयता की लड़ाई होगी। यह चुनाव सिविलाइजेशन की लड़ाई होगी। इसमें हमारी सभ्यता और संस्कृति की लड़ाई होगी। मुझे विश्वास है कि हमारे भारत के लोग सनातन संस्कृति को सुरक्षित रखेंगे। इस बार उनको यह मालूम चल जाएगा कि सनातन के बारे में बोलना उनके लिए कितना हानिकारक है।

ट्विटर बायो से इंडिया हटा भारत लगाया
उल्लेखनीय है कि इससे पहले विपक्षी दलों के अपने गठबंधन का नाम आईएनडीआईए रखे जाने के बाद असम के मुख्यमंत्री हिमंत विश्व शर्मा ने अपने ट्विटर बायो से इंडिया नाम हटाकर भारत कर लिया। इसके बाद उन्होंने ट्वीट किया कि ‘हमारा सभ्यतागत संघर्ष इंडिया और भारत के इर्द-गिर्द केंद्रित है। अंग्रेजों ने हमारे देश का नाम इंडिया रखा। हमें खुद को औपनिवेशिक विरासतों से मुक्त करने का प्रयास करना चाहिए। हमारे पूर्वज भारत के लिए लड़े और हम भारत के लिए काम करते रहेंगे। भारत के लिए ही भाजपा है।’

यह भी पढ़ें – NCP का असली मुखिया कौन? चुनाव आयोग ने दोनों गुटों को 6 अक्टूबर को सुनवाई के लिए बुलाया

Join Our WhatsApp Community
Get The Latest News!
Don’t miss our top stories and need-to-know news everyday in your inbox.