दुष्कर्म और महिला उत्पीड़न के आरोपितों को पुरस्कृत कर रही कांग्रेसः Meenakshi Lekhi

एक तरफ भाजपा है जो महिलाओं के साथ दुष्कर्म करने वाले आरोपियों को फांसी पर लटकाने का फैसला लेती हैं, तो वहीं दूसरी तरफ कन्या पूजन को नौटंकी बताने वाली कांग्रेस है, जो महिला उत्पीड़न करने वाले को टिकट देती है। छिंदवाड़ा से कांग्रेस प्रत्याशी कमलनाथ महिला को ’आइटम’ कहते हैं।

48

 केंद्रीय मंत्री मीनाक्षी लेखी (Meenakshi Lekhi) ने कहा कि कांग्रेस पार्टी में कभी महिलाओं का सम्मान नहीं रहा। प्रियंका गांधी कहती हैं कि लड़की हूं, लड़ सकती हूं, लेकिन वो किससे लड़ रही हैं? कांग्रेस (Congress) के ही लोग महिलाओं को टंचमाल और आइटम कहते हैं, उनका उत्पीड़न करते हैं। ऐसे लोगों का विरोध करने की बजाय कांग्रेस में इन्हें पुरस्कृत (rewarding) किया जा रहा है, विधानसभा चुनाव (assembly elections) में टिकट दिए जा रहे हैं। ऊपर से कांग्रेस एक बार फिर प्रदेश की महिलाओं (women) से झूठ बोल रही है, उन्हें छलने के लिए तैयार है।

मोदी सरकार ने जीता महिलाओं का भरोसा
केंद्रीय मंत्री लेखी 26 अक्टूबर को भोपाल प्रवास के दौरान पार्टी के प्रदेश मीडिया सेंटर में पत्रकारवार्ता को संबोधित कर रही थीं। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और भाजपा की डबल इंजन सरकार ने जिस तरह से महिलाओं का भरोसा जीता है, उसके सामने कांग्रेस का हर झूठ, महिलाओं को भ्रमित करने की हर साजिश नाकाम होगी।

कांग्रेस में नहीं महिला सम्मान की परंपरा
उन्होंने कहा कि एक तरफ भाजपा है जो महिलाओं के साथ दुष्कर्म करने वाले आरोपियों को फांसी पर लटकाने का फैसला लेती हैं, तो वहीं दूसरी तरफ कन्या पूजन को नौटंकी बताने वाली कांग्रेस है, जो महिला उत्पीड़न करने वाले को टिकट देती है। छिंदवाड़ा से कांग्रेस प्रत्याशी कमलनाथ महिला को ’आइटम’ कहते हैं। बड़नगर के कांग्रेसी विधायक मुरली वोरवाल के बेटे पर महिला उत्पीड़न का मामला दर्ज है। सोनकच्छ से कांग्रेस उम्मीदवार सज्जन वर्मा महिलाओं को ’बच्चे पैदा करने की मशीन कहते हैं। मुल्ताई के सुखदेव पांसे महिला को ’नाचने-गाने वाली’ कहते हैं। जबलपुर पश्चिम से प्रत्याशी और पूर्व मंत्री तरुण भनोट महिलाओं को ’बेवकूफ’ कहते हैं। गंधवानी से प्रत्याशी उमंग सिंघार महिला उत्पीड़न करते हैं। अटेर के प्रत्याशी हेमंत कटारे पर रेप का आरोप लगाने वाली युवती आत्महत्या कर लेती है। कोतमा से कांग्रेस प्रत्याशी सुनील सराफ और सतना से कांग्रेस प्रत्याशी सिद्धार्थ कुशवाहा ट्रेन में महिला से छेड़खानी करते हैं।

कांग्रेस ने महिलाओं के लिए झूठे वादे
केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि कांग्रेस ने अपने छल पत्र में महिलाओं के लिए कई झूठे वादे किए हैं। नवरात्रि में हर दिन कांग्रेस पार्टी ने हमारी माता-बहनों से हर दिन एक नया झूठ बोला है। कांग्रेस ने पहला झूठ यह बोला कि विधवा विवाह को प्रोत्साहित करने के लिए पुनर्विवाह करने पर 1.51 लाख रुपये देंगे, जबकि भाजपा की सरकार पहले से दो लाख रुपये दे रही है। दूसरा झूठ- महिलाओं को 500 रुपये में गैस सिलेंडर देंगे। भाजपा सरकार पहले से 450 रुपये में गैस सिलेंडर दे रही है। तीसरा झूठ- महिलाओं को हर माह 1500 रुपये देंगे। मुख्यमंत्री शिवराजसिंह लाडली बहना योजना में महिलाओं को अभी 1250 रुपये दे रहे हैं, जिसे आगे 3000 रुपये प्रतिमाह तक बढ़ाया जाएगा। कांग्रेस का चौथा झूठ-आवासहीन ग्रामीण महिलाओं को आवास देंगे।

भाजपा सरकार में मिला महिलाओं को मालिकाना हक
 भाजपा की सरकार प्रधानमंत्री आवास योजना पहले से चला रही है, जिसमें ग्रामीण क्षेत्र में 52 प्रतिशत एवं शहरी क्षेत्र में 70 प्रतिशत महिलाओं को आवास का मालिकाना हक दिया जा चुका है। पांचवा झूठ- बच्चों को निशुल्क शिक्षा देंगे, जो भाजपा सरकार पहले से दे रही है और मेधावी बच्चों को स्कूटी भी दे रही है। छठा झूठ- छात्राओं के लिए छात्रावास बनाएंगे, प्रदेश में 463 कस्तूरबा कन्या छात्रावास पहले से चल रहे हैं। कांग्रेस का सातवां झूठ- गर्भवती महिलाओं को फ्री एंबुलेंस उपलब्ध कराएंगे। जबकि प्रधानमंत्री मातृवंदन योजना में अन्य सुविधाओं के साथ 1600 करोड़ रुपये का लाभ भाजपा की सरकार गर्भवती महिलाओं को उपलब्ध करा चुकी है और पोषण अनुदान के रूप में गर्भवती महिलाओं को 16000 रुपये दिए जा रहे हैं। कांग्रेस का आठवां झूठ महिला सहभागिता बढ़ाने का वादा है, जबकि भाजपा की सरकार ने महिलाओं को संसद और विधानसभाओं में 33 प्रतिशत आरक्षण के लिए कानून बनाया है। तीन तलाक की कुप्रथा समाप्त हो चुकी है और प्रदेश में पुलिस की भर्ती में महिलाओं को 30 प्रतिशत आरक्षण दिया जा रहा है। (हि.स.)

प्रधानमंत्री मोदी ने बनाया महिलाओं को राजनीतिक ताकत
मीनाक्षी लेखी ने कहा कि महिलाओं को टंचमाल और आइटम कहने वालों ने संसद महिला आरक्षण का विरोध क्यों नहीं किया? इससे पहले जब भी इस बिल की बात होती थी, ये हर बार सेटिंग कर लेते थे। एक बिल रखता था, दूसरा गिरा देता था। लेकिन इस बार प्रधानमंत्री मोदी हैं, जिनके लिए नारी सशक्तिकरण वोट बैक का नहीं बल्कि राष्ट्र निर्माण का मिशन रहा है। प्रधानमंत्री ने लाल किले से महिला सशक्तीकरण के लिए आवाज उठाई।

कांग्रेस ने छीना था हक, भाजपा सरकार कर रही महिला उत्थान
लेखी ने कहा कि मध्यप्रदेश में 15 महीने की कमलनाथ सरकार ने बहनों के साथ छल किया था, उनके हक छीन लिए थे। उस सरकार ने बैगा, भारिया और सहरिया बहनों को मिलने वाले पोषण भत्ते के 1000 रुपये बंद कर दिए थे। बेटियों की शादी पर दी जाने वाली प्रोत्साहन राशि बंद कर दी थी। दूसरी तरफ भाजपा की डबल इंजन वाली सरकार मध्यप्रदेश में कई योजनाएं चला रही है जिनसे महिलाओं को लाभ पहुंच रहा है। प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के अंतर्गत 82 लाख महिलाओं को रसोई के काले धुएं से छुटकारा मिला है। जनधन योजना से 3 करोड़ 70 लाख महिलाओं को उनके खुद के खाते मिले हैं। प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना में 44 लाख से अधिक माताओं को 1600 करोड रुपए की आर्थिक मदद मिली है। 4 लाख 50 हजार से अधिक स्व सहायता समूह से 53 लाख से अधिक महिलाओं को जोड़ा गया है। आज मध्यप्रदेश में 46 लाख बेटियां लखपति बन चुकी हैं। उन्होंने कहा कि मोदी और शिवराज के राज में महिलाओं का जीवन खुशहाल हो रहा है। यही वजह है कि देश-प्रदेश की माता-बहनों के मन में मोदी जी की तस्वीर है, क्योंकि वो जो कहते हैं, वो करते हैं, उन्होंने महिलाओं का भरोसा जीता है।

यह भी पढ़ें – America में ताबड़तोड़ फायरिंग, बहुतों की हुई मौत, कई हुए घायल

Join Our WhatsApp Community
Get The Latest News!
Don’t miss our top stories and need-to-know news everyday in your inbox.