इसलिए नीतीश कुमार छोड़ देंगे मुख्यमंत्री का बंगला

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के स्थानांतरित होने की खबरें हैं।

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार एक अणे मार्ग को छोड़कर सात सर्कुलर रोड में शिफ्ट होने जा रहे हैं। उनकी शिफ्टिंग का कारण एक अणे मार्ग में होने वाले रिनोवेशन के काम को बताया जा रहा है। लेकिन राजनीतिक बिरादरी में इसे लेकर कई कयास लगाये जा रहे है। चर्चा है कि सीएम को दूसरे बंगले में शिफ्टिंग आने वाले उस बदलाव की ओर संकेत दे रहा है। जिसमें कहा जा रहा है कि नीतीश कुमार जल्द ही दिल्ली जा सकते है। इस चर्चा का बड़ा कारण भी सामने आया है।

दरअसल, सात सर्कुलर रोड में नीतीश कुमार-2015 में भी रह चुके हैं। उस समय वह राजद के साथ सरकार में थे। लेकिन बाद में इस बंगले में शिफ्ट होने के बाद उन्होंने राजद का साथ छोड़ दिया था और भाजपा के साथ मिलकर अपनी सरकार बनाई थी। अब एक बार फिर से बिहार की राजनीति में वैसा ही माहौल नजर आ रहा है।

ये भी पढ़ें – भाजपा का आरोप, ‘रोहिंग्या-बांग्लादेशियों की मददगार केजरीवाल सरकार’

दावों प्रतिदावों के बीच संदेहों का बाजार
नीतीश कुमार के दिल्ली जाने की चर्चा जोरों पर है। दूसरी तरफ राजद भी सरकार बनाने के दावे कर रही है। इन सबके बीच नीतीश का सात सर्कुलर रोड के बंगले में शिफ्ट होने के फैसले के बाद राजनीतिक हलकों में यह सवाल उठ रहा है कि क्या एक बार फिर से सीएम नीतीश कुमार अपने मुख्यमंत्री की कुर्सी छोड़ेंगे। यह चर्चा इसलिए भी हो रही है कि एक अणे मार्ग में रहते हुए भी वहां मरम्मत का काम किया जा सकता था। लेकिन इसकी जगह सीएम को दूसरे बंगले में शिफ्ट करने पर सहमति बनी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here