भारत बनेगा हिन्दू राष्ट्र? 18 नवंबर से दिल्ली में होगा मंथन

हिन्दू जनजागृति समिति द्वारा 11 अखिल भारतीय और 13 राज्यों में 14 प्रांतीय हिन्दू राष्ट्र अधिवेशनों का आयोजन किया जा चुका है।

877

देश की राजधानी दिल्ली में हिन्दू जनजागृति समिति की ओर से “हिन्दू राष्ट्र अधिवेशन” का आयोजन किया जाएगा। 18 व 19 नवंबर को दिल्ली में निमंत्रित हिन्दू संगठनों के लिए आयोजित इस अधिवेशन द्वारा हिन्दू राष्ट्र स्थापना की मांग को उठाया जाएगा। साथ ही इस अधिवेशन में भारत में हिन्दू राष्ट्र स्थापना हेतु प्रभावी कृति कार्यक्रम निश्चित किया जाएगा।

समिति के सुरेश मुंजाल के अनुसार इस अधिवेशन के लिए उत्तर भारत के उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, पंजाब, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, देहली, राजस्थान एवं मध्य प्रदेश, चंडीगढ़ व जम्मू आदि 10 राज्यों से 285 जनों को आमंत्रित किया गया है। जिसमें हिन्दुत्वनिष्ठ संगठनों के पदाधिकारी, मंदिर विश्वस्त, अधिवक्ता, विचारक इनका समावेश हैं। काशी-मथुरा मुक्तिसंग्राम, हिंदुहित के कानून, सनातन-विरोधी नेरेटिव का प्रतिकार, लव जिहाद का प्रतिकार, आगामी लोकसभा चुनाव में हिन्दुओं की रणनिति आदि विषयों पर इस अधिवेशन में संवाद होगा।

ये लेंगे हिस्सा
इस अधिवेशन में मुख्य रूप से ‘सुदर्शन वाहिनी’ के मुख्य संपादक सुरेश चव्हाण, ‘ज्ञानवापी’ मुक्ति के लिए लड़ने वाले अधिवक्ता विष्णु शंकर जैन, ‘हिन्दू फ्रंट फॉर जस्टिस’ के संरक्षक तथा सर्वाेच्च न्यायालय के अधिवक्ता हरि शंकर जैन, रक्षा विशेषज्ञ आर. एस. एन सिंह, राष्ट्रवादी विचारक नीरज अत्री, हिंदू इकोसिस्टम के संस्थापक अध्यक्ष कपिल मिश्रा, द्रौपदी ड्रीम ट्रस्ट की अध्यक्षा नीरा मिश्रा, हिन्दू जनजागृति समिति के राष्ट्रीय मार्गदर्शक सद्गुरु (डॉ.) चारुदत्त पिंगले, हिन्दू जनजागृति समिति के राष्ट्रीय प्रवक्ता रमेश शिंदे तथा सनातन संस्था के राष्ट्रीय प्रवक्ता चेतन राजहंस के साथ लगभग 55 जनों का उद्बोधन होगा। धर्म रक्षा का कार्य करते समय आने वाली बाधाएं एवं किए प्रयासों पर संगठन अपना अनुभव सबके समक्ष रखेंगे।

MP Assembly Elections: मतदाता इन 12 वैकल्पिक दस्तावेजों में से कोई एक दिखाकर कर सकते हैं मतदान

पहले भी हो चुका है ऐसे अधिवेशन का आयोजन
मुंजाल के अनुसार हिन्दू जनजागृति समिति द्वारा 11 अखिल भारतीय और 13 राज्यों में 14 प्रांतीय हिन्दू राष्ट्र अधिवेशनों का आयोजन किया जा चुका है और इस माध्यम से अभी तक 500 से अधिक हिन्दुत्वनिष्ठ संगठन संगठित हुए हैं। विगत 10 वर्षों में पूरे देश में 400 विषयों पर 1688 राष्ट्रीय हिन्दू आंदोलन का सफलतापूर्वक आयोजन किया जा चुका है। लव जिहाद, हलाल जिहाद व लैंड जिहाद जैसे गंभीर विषयों के विरोध में जनजागरण करना, उत्तराखंड के बाढ़पीड़ितों तथा नेपाल के भूकम्पों में सहायता करना कश्मीरी हिन्दुओं की रक्षा हेतु पूरे देश में “एक भारत अभियान” का आयोजन करना मंदिरों की रक्षा हेतु मंदिर संस्कृति रक्षा अभियान का आयोजन कर हिन्दुओं को जागृत करने का निरंतर प्रयास समिति द्वारा किया जा रहा है।

Join Our WhatsApp Community
Get The Latest News!
Don’t miss our top stories and need-to-know news everyday in your inbox.