ठाकुर के बाद पूर्व राष्ट्रपति ठाणे पहुंचे, वित्त मंत्री समेत केंद्रीय मंत्रियों की राज्य में जनसंपर्क फेरी! भाजपा का मिशन महाराष्ट्र शुरू?

भारतीय जनता पार्टी वर्ष 2024 के लोकसभा चुनावों में शत प्रतिशत भाजपा के लिए जोर लगा रही है। इसके अंतर्गत केंद्रीय मंत्रियों को अब विभिन्न संसदीय क्षेत्रों में उतार दिया है।

महाराष्ट्र में भारतीय जनता पार्टी के मिशन महाराष्ट्र का प्रारंभ हो चुका है क्या इसकी चर्चा है। केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर के ठाणे और मुंबई प्रवास के पश्चात वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण, पूर्व राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, केंद्रीय मंत्री शांतनु ठाकुर और हरदीप सिंह पूरी राज्य में पहुंचे। इन सभी नेताओं ने अलग-अलग संसदीय सीटों पर जनसंपर्क कार्यों में हिस्सा लिया।

गुरुवार को मोदी सरकार के तीन केंद्रीय मंत्री और पूर्व राष्ट्रपति महाराष्ट्र में थे। ठाणे में कांग्रेस के पूर्व विधायक रहे कांति कोली की प्रथम पुण्य तिथि पर पूर्व राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने पहुंचकर श्रद्धांजलि अर्पित की। इसके अलावा बारामती में केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण विभिन्न कार्यक्रमों में जनसंवाद के माध्यम से लोगों से जुड़ीं। केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी चंद्रपुर में थे, जबकि शांतनु ठाकुर हिंगोली में थे।

ठाणे अभेद्य गढ़ – ठाणे जिले में भारतीय जनता पार्टी के पांच विधायक हैं। इसके अलावा ठाणे जिले में मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे और उनका गुट शक्तिशाली है। इसे अभेद्य किले के रूप स्थापित करने के लिए भाजपा पूरी शक्ति से जुटी है, जिसका प्रमाण है केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर का कल्याण डोंबीवली और माहिम क्षेत्र का प्रवास और जनसंपर्क।

इसके दो दिनों पश्चात ही पूर्व राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद भी ठाणे में पहुंचे। वहां पूर्व राष्ट्रपति अखिल भारतीय कोली समाज के नेता और पूर्व कांग्रेस विधायक रहे कांति कोली की प्रथम पुण्यतिथि में सम्मिलित हुए। पूर्व राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद स्वयं कोली समाज का प्रतनिधित्व करते हैं। ऐसे में कांति कोली के घर उनकी उपस्थिति कोकण पट्टे में बसनेवाले आगरी कोली समाज में भाजपा को लेकर समर्थन जुटाने का कार्य कर सकती है।

बारामती में सेंध – बारामती राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी का अभेद्य किला माना जाता रहा है। वह पवार परिवार का गृहक्षेत्र है। वहां पर भारतीय जनता पार्टी की नेता और वित्त मंत्री निर्मला सीतारण की उपस्थिति हवा बदलने का प्रयत्न है। इसकी घोषणा भी भाजपा नेता राम शिंदे ने पहले ही कर दी थी। विधान परिषद सदस्य राम शिंदे ने कह दिया है कि, अमेठी में जो गति राहुल गांधी की भाजपा ने की है, वैसी परिस्थिति बारामती में भी भाजपा कर सकती है।

ये भी पढ़ें – शिवाजी पार्क पर शिवसेना के दोनों गुटों को दशहरा रैली की अनुमति देने से इनकार, बीएमसी ने बताया ये कारण

चंद्रपुर वापस पाने की कोशिश – चंद्रपुर से ही पूर्व गृहराज्य मंत्री हंसराज अहीर थे, परंतु पिछले लोकसभा चुनाव में उन्हें हार का मुह देखना पड़ा। भाजपा ने चंद्रपुर में अपने केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी को उतारा है। वहां हरदीप सिंह पुरी ने विभिन्न कार्यक्रमों में हिस्सा लिया। चंद्रपुर में कांग्रेस के सुरेश धानोरकर की विजय हुई थी, इस सीट को वापस लाने की दिशा में यह प्रयत्न माना जा रहा है। इस सीट पर भाजपा का लगातार तीन बार कब्जा रहा है।

हिंगोली में जीत का बीज – हिंगोली जिले में भाजपा के तीन विधायक हैं। इसके अलावा वहां शिवसेना के सांसद हेमंत पाटील को जीत मिली थी। संसदीय क्षेत्र की छह सीटों में से तीन विधान सभा पर कब्जा होने के बाद भाजपा का वर्चस्व जगजाहिर है। ऐसी स्थिति में शत प्रतिशत लोकसभा सीट और अधिकतम विधान सभा सीटों को प्राप्त करने का उसका प्रयत्न स्वाभाविक है। इसके अंतर्गत ही केंद्रीय मंत्री शांतनु ठाकुर हिंगोली जिले में जनसंपर्क के अंतर्गत विभिन्न कार्यक्रमों में हिस्सा लिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here