संस्कृत का इस्लामीकरण कर रही है बिहार सरकार – Giriraj Singh

गिरिराज सिंह ने कहा कि नीतीश कुमार की सरकार संस्कृत का इस्लामीकरण कर रही है। हमलोग गांव-गांव जाकर संस्कृत के इस्लामीकरण का विरोध करेंगे।

103

बिहार (Bihar) में चल रहे नवम वर्ग के संस्कृत (Sanskrit) विषय की परीक्षा में इस्लाम धर्म (islam religion) से संबंधित दस सवाल पूछे जाने को लेकर राजनीति काफी तेज हो गई है। बेगूसराय के सांसद तथा केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह (Giriraj Singh) ने कहा है कि लालू और नीतीश बिहार को इस्लामिक स्टेट बनाने और संस्कृत का इस्लामीकरण करना चाह रहे हैं।

संस्कृत की परीक्षा में इस्लाम से जुड़ा सवाल चौंकाने वाला
गिरिराज सिंह ने 28 अक्टूबर को कहा है कि अगर समय रहते हम सब नहीं जागे तो वह दिन दूर नहीं, जब सभी लोगों को नमाज पढ़ने जाना पड़ेगा। बिहार में संस्कृत की परीक्षा में इस्लाम से जुड़ा सवाल पूछा गया, वह चौंकाने वाला है। एक प्रश्नपत्र में दस सवाल इस्लाम से संबंधित पूछा गया है। संस्कृत बोर्ड (sanskrit board) के अध्यक्ष कहते हैं कि यह सिलेबस में है, संस्कृत के सिलेबस में इस्लाम कहां से आ गया।

इस्लामीकरण की राह पर बिहार की सरकार
उन्होंने कहा कि बिहार सरकार (Bihar Government) सनातन संस्कृति का इस्लामीकरण करने की कोशिश कर रही है। आने वाले दिनों में इसका पुरजोर तरीके से विरोध किया जाएगा। अगड़ा और पिछड़ा अगर एकजुट होकर विरोध नहीं करेंगे तो आने वाले दिनों में हर आदमी को नमाज पढ़ने जाना पड़ेगा। नमाज पढ़ना है तो नीतीश कुमार जाकर पढ़ लें, हमारे ऊपर इस तरह से प्रहार नहीं करें।

हिंदू और सनातन धर्म पर प्रहार बर्दाश्त नहीं
गिरिराज सिंह ने कहा कि नीतीश कुमार की सरकार संस्कृत का इस्लामीकरण कर रही है। हमलोग गांव-गांव जाकर संस्कृत के इस्लामीकरण का विरोध करेंगे। लोग हमारे संबंध में कहते हैं कि वे हिंदू-मुसलमान की बात करते हैं। लेकिन गिरिराज हिंदू-मुसलमान नहीं करता है। हिंदू और सनातन धर्म पर प्रहार होगा तो शरीर में खून का एक बूंद रहने तक गिरिराज प्रहार करता रहेगा। गिरिराज सिंह ने कहा कि यह बात नीतीश कुमार और लालू प्रसाद अच्छी तरह से सुन लें कि दुर्गा प्रतिमा की विसर्जन हो या शिवलिंग तोड़ने का मामला, इससे लग रहा है कि हम इस्लामिक स्टेट में रह रहे हैं। यह हिंदुओं का हिंदुस्तान है, पाकिस्तान और बांग्लादेश नहीं की हमारे धर्म एवं धार्मिक संस्थाओं पर कोई हमला करे तथा हम चुप बैठे रहें। हम इसका प्रतिकार करते रहेंगे।

यह भी पढ़ें – भारत में Hamas की एंट्री! जमात-ए-इस्लामी की रैली में हमास के पूर्व प्रमुख का भाषण

Join Our WhatsApp Community
Get The Latest News!
Don’t miss our top stories and need-to-know news everyday in your inbox.