बहुजन समाज पार्टी के जुलूस में उमड़ा पाक प्रेम, अब भुगत रहे हैं किए की सजा

उत्तर प्रदेश के आजमगढ़ में बसपा के एक कार्यक्रम में पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाने का मामला प्रकाश में आने के बाद पुलिस सक्रिय हो गई है।

आजमगढ़ जिले में बहुजन समाज पार्टी(बसपा) के कुछ पदाधिकारियों ने गलियों में पाकिस्तान जिंदाबाद का नारा लगाया, जिसका एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। इस वीडियो को पुलिस ने गंभीरता से लेते हुए इसकी सच्चाई परखने के लिए छानबीन में जुट गई है। इस मामले में पुलिस ने दो लोगों को हिरासत में भी लिया है।

बता दें कि 3 नवंबर को बहुजन समाज पार्टी की मासिक बैठक आयोजित की गई थी, जिसमें नगर पंचायत चुनाव पर चर्चा हुई। इस बैठक में काफी संख्या में बसपा पार्टी के कार्यकर्ता व नेता शामिल थे।

पप्पू खान के समर्थकों ने लगाया नारा?
इस बैठक में नई बनी नगर पंचायत जहानागंज के चेयरमैन पद के प्रत्याशी पप्पू खान अपने सैकड़ों समर्थकों के साथ पहुंचे थे। बैठक समाप्त होने पर चेयरमैन पद के प्रत्याशी अपने समर्थकों के साथ कस्बे की गलियों से गुजर रहे थे। आगे-आगे नेता जी चल रहे थे तो वहीं पीछे पार्टी का झंडा लिए समर्थक नारेबाजी कर रहे थे। इसी दौरान पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे भी लगाए गए। जिसका वीडियो शुक्रवार को सोशल मीडिया में वायरल हुआ है। पाकिस्तान जिंदाबाद का वीडियो वायरल होने के बाद पुलिस महकमे में हड़कम्प मच गया। पुलिस ने प्राथमिक जांच के बाद चेयरमैन पद के प्रत्याशी व एक समर्थक को हिरासत में लिया है।

जांच में जुटी पुलिस
पुलिस अधीक्षक अनुराग आर्य ने बताया आपत्तिजनक नारा लगाने का मामला संज्ञान में आया है। पुलिस छानबीन में जुट गई है। पप्पू खान के समर्थन में बैठक आयोजित थी, उन्हें हिरासत में लिया गया है, जबकि नारा लगाने वाला खुर्शीद अहमद उर्फ शिब्ली पहलवान को भी गिरफ्तार किया गया है। बताया कि सुसंगत धाराओं में अभियोग पंजीकृत कराया जा रहा है। मामले की जांच की जा रही है। जांच के बाद अन्य दोषियों के खिलाफ भी कार्रवाई की जायेगी।

पूर्व विधायक शाह आलम उर्फ गुड्डू जमाली ने जताया ये शक
वहीं बहुजन समाज पार्टी के पूर्व विधायक शाह आलम उर्फ गुड्डू जमाली का कहना है कि वे बाद में पहुंचे। वीडियो को हमने भी देखा है। इसमें कुछ लोग किसी साबिर प्रधान के बारे में नारा लगा रहे हैं। उन्होंने कहा कि बहुजन समाज पार्टी के कार्यकर्ता अनुशासन में बंधें होते हैं। वह ऐसा कृत्य नहीं कर सकते। यह भी हो सकता है कि किसी ने वीडियो को साजिश के तहत एडीट किया हो या जुलूस आगे चल रहा हो और टारगेट कर नारा लगा वीडियो बना लिया गया हो।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here