बादल पर किसने बरसाए पत्थर?

अकाली दल और कांग्रेस के कार्यकर्ताओं में झड़प के बाद जलालाबाद में हमला किया गया। हमले में एसएडी की एक और कांग्रेस की दो गाड़ियों को भारी नुकसना हुआ है।

शिरोमणि अकाली दल ( एसएडी) के अध्यक्ष सुखबीर सिंह बादल की गाड़ी पर पंजाब के जलालाबाद में कुछ लोगों ने हमला किया। बताया जा रहा है कि अकाली दल और कांग्रेस के कार्यकर्ताओं में झड़प के बाद यह हमला किया गया। इस हमले में एसएडी की एक और कांग्रेस की दो गाड़ियों को भारी नुकसना हुआ है। हमले में फायरिंग भी की गई, जिसमें तीन लोग घायल हो गए हैं।

पुलिस को अपना काम करने देना चाहिएः सीएम
इस झड़प को लेकर पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने अनभिज्ञता जताई। उन्होंने कहा कि घटना में दो अकाली और दो कांग्रेस कार्यकर्ता घायल हुए हैं। इसलिए इस बारे में कुछ भी कहना मुश्किल है। फिलहाल पुलिस को अपना काम करने देना चाहिए।

नामांकन के दौरान झड़प
यह झड़प नगर परिषद चुनाव के लिए नामांकन के दौरान हुई। इस घटना के बाद नामांकन प्रक्रिया को रोक दिया गया था, जिसे बाद में फिर से शुरू किया गया। इस झड़प में सुखबीर सिंह बादल पूरी तरह सुरक्षित हैं। उन्होंने हमले में कांग्रेस का हाथ बताते हुए कहा है कि वे ऐसे हमले से नहीं डरते। उन्होंने कहा कि हमले के दौरान गोली लगने से उनकी पार्टी के तीन कार्यकर्ता घायल हो गए हैं।

पार्टी कार्यकर्ताओं को किया संबोधित
झड़प के बाद वहां मौजूद पार्टी कार्यकर्ताओं को बादल ने संबोधित किया। उन्होंने कहा कि ये हमला कांग्रेसियों ने किया है। इस दौरान वहां तैनात पुलिस ने भी बीच बचाव का कोई प्रयास नहीं किया। उन्होंने बताया कि वे पार्टी उम्मीदवारों के साथ नामांकन के लिए जा रहे थे, तभी झड़प शुरू हो गई।

पुलिस ने क्या कहा?
मौके पर मौजूद एसएसपी हरजीत सिंह ने कहा कि कोर्ट परिसर में फाजिल्का के एसपी सहित तीन बड़े अधिकारी तैनात किए गए थे। यहां कहा-सुनी के बाद झड़प हो गई। इसकी पुलिस जांच कर रही है। विवाद उस वक्त हुआ, जब नगर परिषद जलालाबाद हलके में शिरोमणि अकाली दल के उम्मीदवार नामांकन पत्र भरने जा रहे थे। नामांकन के वक्त मौजूद रहने के लिए पहुंचे सुखबीर सिंह बादल पर कुछ लोगों ने हमला कर दिया।

आप कार्यकर्ताओं का आरोप
इससे पहले 1 फरवरी को भी आम आदमी पार्टी के नेताओं ने कुछ लोगों पर धक्का-मुक्की करने और फाइलें छीनने के आरोप लगाए थे। इस संबंध में आप के जिलाध्यक्ष के नेतृत्व में पार्टी नेताओं ने  जिला प्रशासन के अफसरों से मुलाकात की थी और सुरक्षा बढ़ाने क मांग की थी।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here