पवार भी जनसंख्या नियंत्रण कानून के पक्षधर! क्या महाराष्ट्र में भी ‘हम दो हमारे दो’ की नीति होगी लागू?

राकांपा प्रमुख शरद पवार ने 11 जुलाई को जनसंख्या नियंत्रण कानून का समर्थन करते हुए बयान जारी किया। उन्होंने कहा कि इकॉनमी, बेहतर रहन-सहन और पर्यावरण संतुलन के लिए जनसंख्या पर नियंत्रण जरुरी है।

उत्तर प्रदेश में जहां जनसंख्या नियंत्रण नीति की घोषणा कर दी गई है, वहीं अब राष्ट्रीय स्तर पर इसे लेकर कानून बनाने की चर्चा शुरू हो गई है। राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी प्रमुख शरद पवार ने यूपी की योगी आदित्यनाथ सरकार की जनसंख्या नियंत्रण नीति का स्वागत किया है।

राकांपा प्रमुख शरद पवार ने 11 जुलाई को जनसंख्या नियंत्रण कानून का समर्थन करते हुए बयान जारी किया। उन्होंने अपने बयान में कहा कि इकॉनमी, बेहतर रहन-सहन और पर्यावरण संतुलन के लिए जनसंख्या पर नियंत्रण जरुरी है।

क्या महाराष्ट्र में भी लागू होगी नीति?
विश्व जनसंख्या दिवस पर शरद पवार द्वारा जारी इस बयान के बाद इस बात की चर्चा शुरू हो गई है कि क्या महाराष्ट्र में भी इस तरह की नीति लागू की जाएगी। इसके साथ यह भी माना जा रहा है कि भारतीय जनता पार्टी के साथ ही अन्य पार्टियां भी जनसंख्या नियंत्रण के लिए कानून लागू करने के पक्ष में हैं।

ये भी पढ़ेंः यूपी में नई जनसंख्या नीति की घोषणा! ये हैं खास बातें

पवार ने कही ये बात
पवार ने अपने बयान में कहा कि विश्व जनसंख्या दिवस पर हर नागरिक को यह शपथ लेनी चाहिए कि वह जनसंख्या नियंत्रण में अपना योगदान देगा। बेहतर देश और बेहतर जीवन के लिए यह अति आवश्यक है।

यूपी में जनसंख्या नियंत्रण नीति की घोषणा
बता दें कि उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने इस नीति की घोषणा कर दी है। विश्व जनसंख्या दिवस पर आयोजित एक विशेष कार्यक्रम में सीएम योगी ने कहा कि बढ़ती जनसंख्या सभी समस्याओं की जड़ है। इससे समाज में असामनता फैल रही है और बेहतर समाज के निर्माण के लिए जनसंख्या नियंत्रण बहुत जरुरी है।

क्या है जनसंख्या नियंत्रण नीति?
इस नीति के अनुसार उत्तर प्रदेश में दो से अधिक बच्चे पैदा करने वालों को सरकारी नौकरियों के साथ ही योजनाओं के लाभ और चुनाव लड़ने से भी वंचित होना पड़ेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here