ये लोकतंत्र के विरुद्ध षड्यंत्र

राज्यसभा में विपक्ष के सदस्यों द्वारा हंगामा, धक्कमुक्की और महिला मार्शलों के साथ दुर्व्यहार किया गया था। संसद में हंगामा करनेवाले विपक्ष के 12 सांसदों का जब निलंबन हो गया तो, वे अपने आचरण को अहिंसा की मूर्ति के रूप प्रस्तुत करने लगे। इसे भाजपा सांसद विनय सहस्त्रबुद्धे ने षड्यंत्र बताया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here