पश्चिम बंगाल: हिंसा पर प्रधानमंत्री भी हुए सख्त, जानें राज्यपाल से क्या बोले?

पश्चिम बंगाल में चुनाव की घोषणा से शुरू हुआ हिंसा का चक्र समाप्त होने का नाम नहीं ले रहा है। बल्कि ये परिणामों के घोषणा के बाद बढ़ गया है।

पश्चिम बंगाल में चुनाव परिणामों के बाद हिंसात्मक गतिविधियों में तेजी आई है। पिछले दो दिनों में बड़ी संख्या में लोगों पर हमले हुए, कइयों की मॉब लिंचिंग की गई और बड़ी संख्या में लूटपाट की घटनाएं हुई हैं। इसका संज्ञान लेते हुए प्रधानमंत्री ने राज्यपाल जगदीप धनखड़ से बात की है।

ममता बनर्जी अपने इस्तीफा सौंप चुकी हैं और नई सरकार की शपथ विधि 5 मई को हेनी है। इस काल में राज्य में हिंसा का ऐसा दौर चल रहा है कि आम जनमानस पीटा जा रहा है, लूटा जा रहा, घर फूंक दिये जा रहे हैं। इसकी गुहार लगाते सैकड़ो वीडियो वायरल हो रहे हैं। इस अंधाधुंध हिंसा पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संज्ञान लेते हुए राज्यपाल जगदीप धनखड़ से बात की। प्रधानमंत्री ने राज्य की कानून व्यवस्था को लेकर चिंता व्यक्त की है।

पीएम ने व्यक्त की नाराजगी
इस विषय में राज्यपाल जगदीप घनखड़ की ओर से प्रसारित ट्वीट में बताया गया है कि, पीएम ने फोन किया और राज्य की कानून व्यवस्था की स्थिति पर अपनी नाराजगी व्यक्त की।

मैं तोड़फोड़, आगजनी, लूट और हत्याओं पर पीएम की चिंताओं से सहमत हूं, इस पर कार्रवाई करके हुए कानून व्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए संबंधित लोगों

बेरोकटोक हिंसा 
राज्य में चुनाव परिणाम घोषित होने के बाद ही हिंसा की घटनाओं ने रौद्र रूप धारण कर लिया। इससे पीड़ित लोग ट्वीट के माध्यम से अन्य सोशल माध्यमों से गुहार लगा रहे हैं। ऐसा ही एक ट्वीट हम शेयर कर रहे हैं जिसमें एक शख्स ने अपने परिवार की सुरक्षा के लिए सभी को टैग करके ट्वीट किया है।

यही एक चित्र नहीं है। इसके अलावा भी हिंसा के कई वीडियो है। दूसरा वीडियो पोस्ट किया है कल्याण चौबे ने। जो पूर्व गोल कीपर हैं और माणिकताला से भारतीय जनता पार्टी के उम्मीदवार थे।

पुलिस के संरक्षण में भी कल्याण चौबे नहीं बच पाए और उन पर टीएमसी कार्यकर्ताओं ने हमला कर दिया। वे मतगणना हॉल से कार पार्किंग तक जा रहे थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here