काशी विश्वनाथ धाम से लगी जर्जर इमारत ढही

काशी विश्वनाथ परिसर में कई दशक पुरानी इमारतें हैं, जो अब जर्जर हो चुकी हैं।

वाराणसी में द्वादश ज्योतिर्लिंगों में से एक श्री काशीविश्वनाथ धाम से लगी एक जर्जर इमारत धराशायी हो गई है। इसमें दो मजदूरों की मृत्यु और 6 लोग घायल हो गए हैं। इस दुर्घटना की सूचना मिलते ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जिलाधिकारी से घटना की जानकारी ली है।

श्रीकाशी विश्वनाथ मंदिर क्षेत्र प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र में आता है। यहां के विकास का बड़ा कार्य इस समय चल रहा है। परिसर से कई कब्जों के हटाया गया है। यहां की इमारतें बहुत ही जर्जर हैं। जिनमें से एक इमारत मंगलवार सुबह गिर पड़ी है।

ये भी पढ़ें – वो प्रधानमंत्री की बैठक का बहिष्कार ही था, ममता बनर्जी ने बोला झूठ?

गोयनका छात्रावास का हिस्सा
काशी विश्वनाथ परिसर में गिरी इमारत गोयनका छात्रावास का भाग थी। घटना में छात्रावास के रसोईं का भाग गिरा है। जब ये दुर्घटना हुई उस समय पास की इमारत में छह मजदूर सो रहे थे। उनमें से 2 की मृत्यु हो गई है जबकि चार घायल हैं। दुर्घटना की जानकारी मिलते ही एनडीआरएफ, इसडीआरएफ और स्थानीय प्रशासन घटनास्थल पर पहुंच गया था।

ये सभी मजदूर पश्चिम बंगाल के मालदा जिले के रहनेवाले थे। घायलों को तत्काल अस्पताल पहुंचा दिया गया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जिलाधिकारी को फोन करके दुर्घटना की जानकारी प्राप्त की है। उन्होंने प्रशासन और पीड़ितों की सहायता का आश्वासन दिया है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी दुर्घटना पर अपना दुख व्यक्त किया है। उन्होंने मृतकों के प्रति संवेदना व्यक्त की है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here