टोक्यो पैरालिम्पिक: बैडमिन्टन में भारत को दोहरी सफलता

टोक्यो पैरालिम्पिक के बैडमिन्टन में भारत के लिए अच्छी खबर है।

बैडमिन्टन में देश को दोहरी सफलता मिली है। प्रमोद भगत ने स्वर्ण पदक प्राप्त किया है। इसी खेल में दूसरा पदक भी भारत के नाम रहा है। प्रमोद का मुकाबला 45 मिनट चला था।

प्रमोद कुमार का सामना डैनियल ब्रेथेल से था। दोनों खिलाड़ियों के बीच हुए खेल के पहले गेम में डैनियल ने अच्छी शुरूआत की लेकिन इसके बाद प्रमोद ने गेम में वापसी की और 21-14 से उन्हें मात दी। इसके अगले गेम में प्रमोद हावी रहे और 21-17 से डैनियल को मात दे दी।

पहले भारतीय खिलाड़ी
प्रमोद कुमार पहले भारतीय बैडमिन्टन खिलाड़ी हैं जिन्होंने पैरालिम्पिक खेलों के एसएल3 कैटेगरी में स्वर्ण पदक प्राप्त किया है। इस कैटेगरी में वही खिलाड़ी हिस्सा ले सकते हैं जिनके पैरों में कोई विकार हों। प्रमोद कुमार का एक पैर पोलियो के कारण काम नहीं करता है।

ये भी पढ़ें – तो छिन जाएगी ममता बनर्जी से मुख्यमंत्री की कुर्सी

इसके अलावा बैडमिन्टन में दूसरा पदक प्राप्त करनेवाले खिलाड़ी हैं मनोज सरकार। मनोद को इस खेल में रजत पदक प्राप्त हुआ है। मनोज का सामना जापान के फुजीहारा डेसुके से था।

तो प्रमोद को मिलेगा दूसरा पदक
प्रमोद कुमार का एसएल-3 सिंगल्स कैटेगरी का खेल स्वर्ण पदक विजय के साथ समाप्त हो गया है, परंतु एसएल3-एसयू5 में वे कांस्य पदक की दौड़ में हैं। यह मिश्रित युगल का मैच है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here