टोक्यो 2020 ओलिम्पिक: …तो भारत का होगा सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन

भारत अब तक ओलिम्पिक खेलों में सबसे अधिक 6 मेडल जीता है। इस बार खिलाड़ियों का अबतक का प्रदर्शन ऐसे ही अच्छा बना रहा तो यह रिकॉर्ड भारत तोड़ सकता है।

भारत की झोली में टोक्यो 2020 ओलिम्पिक में अब तक एक ही पदक आया है परंतु, आशा बनी हुई है। मेरी कॉम अपने राउण्ड में पराजित हो गई, उन्होंने इस ओलिम्पिक से अश्रुपूर्ण विदायी ली, परंतु अन्य भारतीय खिलाड़ियों का उत्कृष्ट प्रदर्शन जारी है।

भारतीय खिलाडियों ने गुरुवार को उमदा प्रदर्शन किया है। इस दिन खिलाड़ियों ने ऐसा प्रदर्शन किया कि पदकों की आस बन गई है। बैडमिंटन, मुक्केबाजी, तीरंदाजी और हॉकी खिलाड़ियों ने अच्छा प्रदर्शन किया।

बैडमिंटन में सिंधु अंतिम 8 में
पीवी सिंधु का अच्छा प्रदर्शन जारी है। उन्होंने डेनमार्क की ब्लिचफेल्ट को हराकर क्वार्टर फाइनल में प्रवेश किया है। अब क्वार्टर फाइनल में उनकी जीत मेडल पक्का कर देगी।

ये भी पढ़ें – सोलापुर ग्रामीण में इस खतरे ने छात्रों को घेरा, परिजन भी चिंतित

कमाल का मुक्का
भारतीय मुक्केबाजों ने पदक की आस को जीवित रखा है। लवलीना बोरगोहेन और पूजा रानी अंतिम 8 में प्रवेश कर चुकी हैं। यह दोनों खिलाड़ी अब अपने राउंड में जीतती हैं तो पदक पर उनका अधिकार निश्चित हो जाएगा।
इसी प्रकार पुरुष वर्ग में सतीश कुमार भी अंतिम 8 में हैं। उनका अब तक का प्रदर्शन अच्छा रहा है। अमित पंघल भी अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं।

हॉकी टीम भी क्वार्टर फाइनल में
भारतीय हॉकी टीम क्वार्टर फाइनल में प्रवेश कर चुकी है। भारत पूल ए में 9 प्वाइंट के साथ दूसरे क्रमांक पर है।

तीरंदाजी में भी आस
विश्व की नंबर एक तीरंदाज दीपिका कुमार और अतनु दास से भी पदक की आशा जगी हुई है। ये दोनों खिलाड़ी अंतिम 8 में अपना स्थान बना चुके हैं।

कुश्ती में आएगा पदक
बजरंग पुनिया और विनेश फोगाट से भी पदक की आशा बनी हुई है। विनेश स्वर्ण पदक की दावेदार हैं। जबकि बजरंग पुनिया से भी मेडल जीतने की आशा है।

भाला फेंक में नीरज चोपड़ा से आस बनी हुई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here