विराट कोहली की अब वन डे क्रिकेट की कप्तानी से भी छुट्टी, रोहित के हाथ में कमान

भारतीय टेस्ट और एकदिवसीय टीम के कप्तान विराट कोहली के लिए 9 दिसंबर का दिन काफी यादगार है। 7 साल पहले इसी दिन दिन यानी 09 दिसंबर 2014 को कोहली ने पहली बार टेस्ट क्रिकेट में भारत का नेतृत्व किया था।

टी20 के बाद अब विराट कोहली को एकदिवसीय क्रिकेट की कप्तानी से भी छुट्टी कर दी गई है। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड की चयन समिति ने रोहित शर्मा को 2023 में आयोजित होने वाले 50 ओवर के विश्व कप तक के लिए इंडियन क्रिकेट टीम के एकदिवसीय क्रिकेट का कप्तान घोषित किया है। शर्मा ने विराट कोहली की जगह ली।

मिली जानकारी के अनुसार विराट कोहली को भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने स्वेच्छा से वन डे क्रिकेट की कप्तानी छोड़ने का मौका दिया था। उन्हें इसके लिए 48 घंटे का समय दिया गया था। लेकिन इस अवधि में जब विराट ने कप्तानी छोड़ने के बारे में बीसीसीआई को कोई जानकारी नहीं दी, तो उन्हें बर्खास्त कर दिया गया।

 नहीं दी गई आधिकारिक जानकारी
हालांकि विराट की बर्खास्तगी को लेकर बीसीसीआई ने कोई बयान जारी नहीं किया लेकिन चयन समिति ने एकदिवसीय और टी 20 फार्मेट के क्रिकेट के लिए कप्तान के रुप में रोहित शर्मा के नाम की घोषणा कर दी। एकदिवसीय कप्तान के रूप में विराट कोहली ने 95 मैचों में से 65 जीते हैं और 27 हारे हैं, जबकि टी20 में कोहली ने 50 में से 30 मैच जीते हैं।

विराट के लिए 9 दिसंबर खास
भारतीय टेस्ट और एकदिवसीय टीम के कप्तान विराट कोहली के लिए 9 दिसंबर का दिन काफी यादगार है। 7 साल पहले इसी दिन दिन 09 दिसंबर 2014 को कोहली ने पहली बार टेस्ट क्रिकेट में भारत का नेतृत्व किया था। लेकिन 2021 में एक दिन पहले यानी 8 दिसंबर को उन्हें इस पद से हटा दिया गया।

ये भी पढ़ेंः सहवाग ने 8 दिसंबर को तोड़ा था तेंदुलकर का रिकॉर्ड, ऐसा करने वाले बने थे दूसरे बल्लेबाज

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सबसे लंबे प्रारूप में की थी कप्तानी की शुरुआत
कोहली ने चार मैचों की टेस्ट श्रृंखला के पहले मैच में एडिलेड ओवल में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सबसे लंबे प्रारूप में कप्तानी की शुरुआत की। उस मैच में 364 रनों का पीछा करने उतरी भारतीय टीम को 48 रनों से हार का सामना करना पड़ा था। भारतीय टीम 315 रनों पर ऑल आउट हो गई थी। यह मैच लेग स्पिनर कर्ण शर्मा के लिए भी पहला मैच था और वह एकमात्र टेस्ट मैच था जो उन्होंने खेला है। कोहली ने दोनों पारियों में शतक लगाया था। डेविड वार्नर, माइकल क्लार्क और स्टीव स्मिथ ऑस्ट्रेलियाई टीम के लिए सर्वाधिक रन बनाने वालों में से थे। भारत दोनों शुरूआती मैच गंवाकर यह श्रृंखला हार चुका था। हालांकि, कोहली ने श्रृंखला के पहले और आखिरी मैच में ही देश का नेतृत्व किया। यह वह श्रृंखला थी जिसमें एमएस धोनी ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ तीसरे टेस्ट के बाद खेल के सबसे लंबे प्रारूप से संन्यास की घोषणा की थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here