विहारी से क्यों रूठे ‘बाबुल’?

टीम इंडिया खिलाड़ियों की चोट से जूझ रही है। ऐसे समय में हनुमा विहारी और आर अश्विन ने ऑस्ट्रेलिया के विरुद्ध खेले गए तीसरे मैच में टीम को हार से बचा लिया। इसके लिए क्रिकेट प्रशंसकों ने दोनों खिलाड़ियों की सराहना की है।

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच तीसरा टेस्ट मैच बगैर किसी निर्णय के समाप्त हो गया। इस मैच को लेकर अब बाबुल की नाराजगी सामने आई है। उन्होंने इस मैच के ड्रॉ होने के लिए हनुमा विहारी को जिम्मेदार ठहराया है।

109 गेंद खेलकर 7 रन बनानेवाले मध्यक्रम के बल्लेबाज हनुमा विहारी ने आर अश्विन के साथ मिलकर तीसरे टेस्ट मैच को ड्रॉ करने में महत्पूर्ण योगदान दिया। ये मैच इस स्थिति में हो रहा था जब भारतीय टीम के अधिकांश खिलाड़ी चोटिल हैं। इस मैच में विहारी को भी क्रैंप से जूझना पड़ा है। मैच के अंतिम दिन इसके कारण हनुमा विहारी को दौड़ने में बड़ी परेशानी का सामना करना पड़ रहा था।

हनुमा विहारी ने मैच में 161 गेंदों का सामना किया है। जिसमें से 109 गेंदों में मात्र 7 रन बनाने के कारण वे बाबुल सुप्रियो के निशाने पर आ गए। बाबुल सुप्रियो पश्चिम बंगाल के आसनसोल से बीजेपी के सांसद हैं।

क्रिकेट की कर दी हत्या

बाबुल सुप्रियो ने अपने ट्वीट में लिखा है कि, इसे नृशंस ही कहा जा सकता है। हनुमा विहारी ने सिर्फ भारत के जीतने के अवसर को खत्म कर दिया बल्कि क्रिकेट की हत्या कर दी। जीतने की धूमिल आशा को मिटा देना अपराध है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here