बिहार में कुशासनः तनिष्क शोरूम की महिला कर्मचारी को दिनदहाड़े मारी गोली

दो वर्ष पूर्व पिता की मृत्यु और पति से अलग होने के बाद नेहा अपने मायके में रह कर परिवार का भरण पोषण करने के लिए जिला मुख्यालय के तनिष्क ज्वेलरी शोरूम में काम करती थी।

अपराध पर काबू पाने की पुलिस की सभी कोशिश बेगूसराय में नाकाम हो गई है। यहां महा जंगलराज का माहौल दिख रहा है, बेखौफ अपराधी लगातार बड़ी वारदात को अंजाम दे रहे हैं। 11 जून की रात भी बेखौफ बदमाशों ने एक महिला की सरेआम गोली मारकर हत्या कर दी। घटना जिला मुख्यालय स्थित लोहियानगर सहायक थाना क्षेत्र के आनंदपुर की है। मृतका नेहा देवी आनंदपुर निवासी उमाशंकर सिंह की बड़ी पुत्री थी।

अपराधियों ने की ताबड़तोड़ गोलीबारी
घटना के संबंध में बताया जा रहा है कि दो वर्ष पूर्व पिता की मृत्यु और पति से अलग होने के बाद नेहा अपने मायके में रह कर परिवार का भरण पोषण करने के लिए जिला मुख्यालय के तनिष्क ज्वेलरी शोरूम में काम करती थी। 11 जून की रात अन्य दिनों की तरह वह ड्यूटी से अपने स्कूटी द्वारा घर वापस लौट रही थी। इसी दौरान पनहांस चौक एवं आनंदपुर के बीच पहले से घात लगाए अपराधियों ने ताबड़तोड़ गोलीबारी कर दिया। गोली की आवाज सुनते ही दौड़े लोगों ने उसे शहर के निजी नर्सिंग होम में भर्ती कराया, जहां डाक्टरों ने मृत घोषित कर दिया।

ये भी पढ़ें – विश्व बालश्रम निषेध दिवस पर विशेषः श्रम की भट्ठी में झुलसता बचपन

शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया सदर अस्पताल
घटना की जानकारी मिलने के बाद पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेज दिया। परिवार के भरण-पोषण के एकमात्र सहारा नेहा की हत्या से परिजनों में कोहराम मच गया है, वहीं लोगों में काफी आक्रोश देखा जा रहा है। लोगों का कहना है कि बेगूसराय में पुलिस की निष्क्रियता से बेखौफ अपराधी लगातार अपराध को अंजाम दे रहे हैं, लेकिन पुलिस वर्दी का खौफ दिखाने में नाकाम हो गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here