तृणमूल के दो गुटों में जमकर बमबारी, फिर क्या हुआ? जानिये, इस खबर में

मीडिया के सामने सद्दाम ने भी कहा है कि तुषार मंडल के लोगों ने मेरे चाचा को पकड़ रखा था। मैं बचाने जा रहा था।

पश्चिम बंगाल के बीरभूम जिले में सत्तारूढ़ पार्टी तृणमूल कांग्रेस के दो गुटों के बीच जमकर बमबारी हुई है। इसमें एक युवक के एक हाथ और एक पैर उड़ गया है। उसकी पहचान सद्दाम के तौर पर हुई है। उसने आरोप लगाया है कि तुषार मंडल गुट के लोगों ने उस पर बमबारी की है। दोनों ही सत्तारूढ़ पार्टी तृणमूल कांग्रेस से जुड़े हुए हैं। गंभीर हालत में सद्दाम को सैंथिया प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती किया गया है।

मीडिया के सामने सद्दाम ने भी कहा है कि तुषार मंडल के लोगों ने मेरे चाचा को पकड़ रखा था। मैं बचाने जा रहा था तभी मुझ पर बमबारी की गई है। घटना सैंथिया फूलुर पंचायत के बहरापुर गांव की है। पुलिस ने बताया है कि दोपहर के समय अचानक दोनों ओर से बमबारी की सूचना मिलने के बाद मौके पर पहुंची पुलिस टीम ने सद्दाम को घायल अवस्था में पड़ा हुआ देखा। उसे उठाकर अस्पताल में भर्ती किया गया है। कैसे वारदात हुई और कौन-कौन से लोग शामिल हैं, इसकी जांच तेज कर दी गई है।

प्रशासन के काम-काज पर सवाल
कुछ दिनों पहले यहां से फैजुल नाम के एक युवक की हत्या हुई थी। आरोप है कि अवैध खनन को लेकर फैजुल को धारदार हथियार से काटकर मौत के घाट उतारा गया था। मामले में उन्हीं की पार्टी के नेता काजल साह सहित 15 लोगों को गिरफ्तार किया गया था। वारदात के बाद ममता के बेहद खास मंत्री फिरहाद हकीम ने घटनास्थल का दौरा किया था। उन्होंने पुलिसकर्मियों को और अधिक सतर्क होने को कहा था लेकिन गुटबाजी की घटनाएं बता रही हैं कि प्रशासन बेहतर तरीके से काम नहीं कर रहा। सूत्रों ने यह भी बताया है कि सोमवार को सद्दाम पर बमबारी भी इलाके में वर्चस्व को लेकर हुई है।

 जेल मे बाहुबली नेता 
उल्लेखनीय है कि बिरसा मुंडा की जयंती पर मुख्यमंत्री बोलपुर आने वाली हैं। उसके पहले इस तरह की घटना ने जिले में कानून व्यवस्था की स्थिति पर सवाल खड़ा किया है। खास बात यह है कि जिले के बाहुबली नेता और तृणमूल कांग्रेस के अध्यक्ष अणुव्रत मंडल फिलहाल जेल में हैं और उनकी अनुपस्थिति में इस तरह की घटनाएं क्षेत्र में अपराध की गहरी जड़ों को उजागर करने वाली हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here