ऑक्सफोर्ड यूनियन का हिंदू द्वेष फिर सामने, फिल्म निर्देशक विवेक अग्निहोत्री सिखाएंगे सबक!

ऑक्सफोर्ड यूनियन के विरुद्ध एक और भारतीय ने कानूनी लड़ाई लड़ने की घोषणा कर दी है।

द कश्मीर फाइल्स के निर्देशक विवेक अग्निहोत्री को भी ऑक्सफोर्ड यूनियन की तानाशाही झेलनी पड़ी है। उनका 31 मई को कार्यक्रम ‘इंडिया आफ्टर द कश्मीर फाइल्स’ था। जिसे अंतिम समय में ऑक्सफोर्ड यूनियन ने 1 जुलाई के लिए आगे धकेल दिया। इसे लेकर ‘द कश्मीर फाइल्स’ के निर्देशक ने कड़ी आपत्ति व्यक्त की है और इस एक तरफे निर्णय के विरुद्ध न्यायालय की शरण में जाने की घोषणा की है।

विवेक अग्निहोत्री यूरोप में हैं। वहां ‘इंडिया आफ्टर द कश्मीर फाइल्स’ के अंतर्गत अलग-अलग कार्यक्रम होना है। इसमें सोमवार को फित्जविलियम कॉलेज, कैंब्रिज में शनिवार को नेहरू सेंटर में और 8 जून को इंग्लैंड की संसद में कार्यक्रम है, इस बीच ऑक्सफोर्ड यूनियन जो कि ऑक्सफोर्ड के छात्रों द्वारा संचालित एक डिबेटिंग सोसायटी है, वहां कार्यक्रम था। जिसे अंतिम समय में बिना पूर्व सूचना के 1 जुलाई के लिए आगे धकेल दिया गया। इसकी जानकारी विवेक अग्निहोत्री ने अपने सोशल मीडिया साइट से साझा की है।

ये भी पढ़ें – टार्गेट किलिंग: 72 घंटे में गई दो हिंदुओं की जान, कश्मीर में आतंकियों का खूनी खेल

विवेक अग्निहोत्री का ट्वीट
हिंदू द्वेशी ऑक्सफोर्ड यूनीयन ने एक और हिंदू आवाज पर बंदिश लगा दी। उन्होंने मेरे कार्यक्रम को रद्द कर दिया। सच कहें तो, उन्होंने हिंदू नरसंहार और ऑक्सफोर्ड में अल्पसंख्यक हिंदू छात्रों को नकारा है। यहां का अध्यक्ष पाकिस्तानी है। कृपया इसे साझा करें और इस कठिन लड़ाई में मेरा समर्थन करें।

कानूनी प्रकरण दायर करुंगा
ऑक्सफोर्ड यूनियन ने मुझे बहुत पहले ही आमंत्रित किया था। इसे निश्चित करने के ईमेल हैं। लेकिन कुछ घंटे पहले उन्होंने बताया कि, इस दिन डबल बुकिंग है और कोई चर्चा न करते हुए कार्यक्रम का दिनांक 1 जुलाई कर दिया। उस रात जब वहां छात्र ही नहीं होंगे तो, वहां कार्यक्रम करके क्या लाभ। क्या उन्होंने मुझे नकारा है? नहीं, उन्होंने लोकतांत्रिक रूप से चुनी गई भारत सरकार को नकारा है, विशेषकर नरेंद्र मोदी को। यह फासिज्म है। यह वही यूनिवर्सिटी है जिसने भुट्टो के बेटे और बहुत सारे कट्टरवादियों के कार्यक्रम आयोजित किये थे। मैं इनके विरुद्ध कानूनी मामला दायर कर रहा हूं।

ऑक्सफोर्ड यूनियन का हिंदू द्वेष
द कश्मीर फाइल्स के निर्देशक विवेक अग्निहोत्री ने कश्मीर के हिंदुओं के नरसंहार को फिल्म में प्रस्तुत करके विश्व को पीड़ा से अवगत कराया। उनके विरुद्ध हिंदू द्वेषियों का षड्यंत्र चलता रहा है। लेकिन ऑक्सफोर्ड का भी लंबा इतिहास है भारत और हिंदुओं के विरुद्ध साजिश रचकर बदनाम करने का।

विवेक अग्निहोत्री के पहले ऑक्सफोर्ड यूनियन के वामपंथियों और पाकिस्तान परस्त विचारधारावालों का हमला भारतीय छात्रा रश्मी सामंत पर हो चुका है। रश्मी सामंत ऑक्सफोर्ड यूनियन की पहली भारतीय महिला प्रेसिडेंट इलेक्ट थीं। उन्होंने 11 फरवरी को विजय प्राप्त की थी। लेकिन उसके बाद रश्मी पर उनके एक निजी सोशल मीडिया पोस्ट के कारण वामपंथी और पाकिस्तानी विचारधारा के लोगों ने ऑनलाइन षड्यंत्र रच दिया। उन्हें इतना परेशान किया कि, रश्मी ने परेशान होकर पद त्याग दिया। इस घटना का संज्ञान भारत सरकार ने भी लिया। ऑक्सफोर्ड यूनियन की कमेटी ने अपनी जांच में पाया कि रश्मी को गलत तरीके से टार्गट किया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here