शातिर साइबर अपराधी गिरफ्तार! झारखंड में बैठकर ऐसे लगाता था लोगों के बैंक अकाउंट में सेंध

देश के दूर दराज में रहकर लोगों के बैंकों में सेंध लगाने वाले अनगिनत साइबर अपराधी इन दिनों सक्रिय हैं। इसी तरह का एक मामला हाल ही प्रकाश में आया है।

साइबर अपराधियों ने अपने मोबाइल फोन से विभिन्न बैंकों के एसएमएस और लिंक भेजकर नागरिकों को ठगने के नए तरीके निकाल लिए हैं। मुंबई साइबर पुलिस ने हाल ही में झारखंड के एक साइबर अपराधी को इस तरह से बल्क एसएमएस भेजकर लोगों को ठगने के आरोप में गिरफ्तार किया है।

गिरफ्तार साइबर अपराधी का नाम सोहराब अनौलमियान अंसारी (26) है। पुलिस ने सोहराब के पास से 2 लैपटॉप, 6 मोबाइल फोन, 1 हार्ड डिस्क और 6 सिम कार्ड बरामद किए हैं। मूल रूप से झारखंड राज्य के एक गांव का रहने वाला सोहराब झारखंड और बिहार में साइबर अपराधियों का एक गिरोह चलाता था। ये गिरोह दोनों राज्यों के गांवों में बैठकर  नागरिकों को अपना शिकार बनाते थे।

ऐसे करता था धोखाधड़ी
सोहराब बैंकों से जानकारी निकालकर खाताधारकों के केवाईसी को अपडेट करने, डेबिट कार्ड की वैधता, क्रेडिट कार्ड पॉइंट्स को अपडेट करने के बहाने वित्तीय धोखाधड़ी करता था। वह एक ही समय में दो हजार से अधिक बल्क एसएमएस और लिंक भेजकर कई बैंक ग्राहकों और राष्ट्रीयकृत बैंकों को बड़े पैमाने पर वित्तीय धोखाधड़ी का शिकार बनाता था। जानकारी मिलने पर उसके खिलाफ मुंबई के वेस्ट रीजनल साइबर पुलिस स्टेशन में मामला दर्ज किया गया था।

ये भी पढ़ेंः माफिया अतीक अहमद के बाद अब उसके बेटे की बारी! ईडी ऐसे कस रही है शिकंजा

झारखंड से की गई गिरफ्तारी
इस साइबर अपराधी की तलाश करते समय पता चला कि वह झारखंड के एक गांव में बैठकर रैकेट चला रहा है। पुलिस ने वहां जाकर सोहराब को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस अब गिरोह के अन्य सदस्यों के बारे में जानकारी प्राप्त करने की कोशिश कर रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here