सरकारी बाबू ने शादी का प्रमाण पत्र देने के लिए रख दी धर्मातंरण की शर्त! मामला डीएम के पास पहुंचा और फिर…

लखीमपुर खीरी में धर्मातंरण कराने के लिए कोई रैकेट या संगठन सक्रिय नहीं था, बल्कि सरकारी विभाग में कार्यरत बाबू ही हिंदू लड़के को मुसलमान बनने के लिए दबाव डाल रहा था।

उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी जिले में एक सनसनीखेज मामले का पर्दाफाश हुआ है। यहां धर्मातंरण कराने के लिए कोई रैकेट या संगठन सक्रिय नहीं था, बल्कि सरकारी विभाग में कार्यरत बाबू ही हिंदू लड़के को मुसलमान बनने के लिए दबाव डाल रहा था। परेशान होकर लड़के ने बाबू की शिकायत जिलाधिकारी महेंद्र बहादुर सिंह से कर दी। जिलाधिकारी पीड़ित लड़के की शिकायत सुनकर हैरान रह गए। उन्होंने सरकारी बाबू को बुलाकर फटकार लगाई। उसके बाद लड़का-लड़की को न्याय मिल सका।

पहले धर्म बदलो, फिर शादी का प्रमाण पत्र मिलेगा
मामला उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी के काशीनगर का है। यहां का निवासी युवक तरुण गुप्ता एक मुस्लिम लड़की से शादी करना चाहता था। दोनों बालिग थे और शादी के लिए तैयार थे। दोनों ने एडीएम को शादी का प्रमाण पत्र के लिए आवेदन किया था। लेकिन वहां कार्यरत बाबू मुहम्मद साजिद उन पर धर्मांतरण का दबाव बनाने लगा। उसने कहा कि पहले धर्म बदलो, उसके बाद ही शादी का प्रमाण पत्र जारी किया जाएगा। कई बार अनुरोध करने पर भी बाबू मानने को तैयार नहीं हुआ।

जिलाधिकारी से की शिकायत और फिर..
परेशान युवक-युवती ने इसकी शिकायत जिलाधिकारी से कर दी। युवक ने अपनी शिकायत के सबूत के तौर पर एक वीडियो भी दिखाया, जिसमें सरकारी बाबू उन पर धर्मातंरण के लिए दबाव बना रहे थे। डीएम ये सब देख-सुनकर हैरान रह गए और उन्होंने तत्काल बाबू को बुलाकर फटकार लगाई। यहां तक कि उसे निलंबित करने की चेतावनी दे दी। इसके बाद युवक-युवती का विवाह प्रमाण पत्र एक घंटे में जारी कर दिया गया।

ये भी पढ़ेंः ठेके पर जमानत… पुलिस ने गिरोह का किया भंडाफोड़

लड़की मुस्लिम, लड़का हिंदू
दरअस्ल मामले में लड़की मुस्लिम है और लड़का हिंदू परिवार से है। लेकिन शादी के लिए दोनों की आपसी सहमति थी। मुस्लिम लड़की से हिंदू लड़के की शादी के बारे में जानकर बाबू नाराज हो गया और वह युवक पर धर्म परिवर्तन करने का दबाव बनाने लगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here