संयुक्त अरब में क्या वह आतंकी हमला था? धू-धू कर जले तेल के टैंकर

संयुक्त अरब अमीरात के आबूधाबी में तेल के टैकर पलक झपकते ही आग के गोले में बदल गए। यह धमाका अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे के पास हुए हैं। स्थानीय प्रशासन के अनुसार यह धमाके ड्रोन के द्वारा किया जा सकते हैं। इस घटना में तीन लोगों की मौौत की सूचना है, जिसमें से दो लोग भारतीय हैं।

तेल भंडारण टैंकर में आग
स्थानीय प्रशासन से प्राप्त सूचना के अनुसार सोमवार सुबह मुस्साफाह स्थित आईकैड-3 में एडनॉक का भांडरण है, जहां तीन टैंकरों मे आग लग गई। यह आग आकाश से उड़ती हुई किसी वस्तु से लगी है। जो ड्रोन हो सकता है।

हवाई अड्डे के पास आग
दूसरी आग आबू धाबी हवाई अड्डे के निर्माणाधीन क्षेत्र में लगने की सूचना प्राप्त हुई है।

विद्रोही समूह ने ली जिम्मेदारी
आग लगने की घटना की जिम्मेदारी भी एक विद्रोही समूह ने ली है। यमन के हाउती विद्रोहियों ने इस पर बयान जारी किया है। यह ईरान समर्थित समूह माना जाता है।

तीन की मौत, छह घायल
आग लगने की घटना में तीन कर्मियों के मारे जाने की सूचना है, जिसमें दो भारतीय और एक पाकिस्तानी के होने की जानकारी स्थानीय मीडिया ने दी है। इसके अलावा छह लोगों के झुलसने की सूचना है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here