येरवडा जेल में तीन कैदियों की मौत, जेल प्रशासन ने बताए ‘ये’ कारण

येरवडा जेल में मरने वाले कैदियों में शाहरुख बाबू शेख, संदेश अनिल गोंडेकर और रंगनाथ चंद्रशेखर दाताल के नाम शामिल हैं।

पुणे की येरवदा सेंट्रल जेल में तीन कैदियों की मौत हो गई है। इन तीनों कैदियों की मौत अलग-अलग बीमारियों से हुई है। पुलिस ने इस संबंध में अचानक मौत का मामला दर्ज किया है। खास बात यह है कि जब एक कैदी के परिजन उससे मिलने जेल गए तो उसकी मौत की सूचना मिली।

मरने वाले कैदियों में शाहरुख बाबू शेख, संदेश अनिल गोंडेकर और रंगनाथ चंद्रशेखर दाताल के नाम शामिल हैं। संदेश गोंडेकर पर 2018 में हत्या का मामला दर्ज किया गया था और तब से वह येरवडा जेल में था। उसके माता-पिता नियमित रूप से उससे मिलने आते थे। 31 दिसंबर को उसके पिता उसे देखने गए। उसी समय उसे बताया गया कि उसकी मौत हो गई है।

इसके बाद संदेश के पिता ने बेटे की मौत के लिए जेल प्रशासन को जिम्मेदार ठहराते हुए आपत्ति दर्ज कराई। इसके बाद येरवडा जेल के अधिकारियों और चिकित्सा अधिकारियों ने समझाया कि उसकी मृत्यु लिवर सोरायसिस से हुई है।

बीमारियो से पीड़ित थे ये कैदी
शाहरुख शेख और रंगनाथ दताल दोनों अलग-अलग बीमारियों से पीड़ित थे। इससे दोनों की मौत हो गई। इस संबंध में येरवडा जेल प्रशासन ने थाने के माध्यम से मृत कैदियों के परिजनों को सूचित कर दिया है। इस मामले में येरवडा थाने में अचानक मौत का मामला दर्ज किया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here