बुली बाई ऐप मामले का जुड़ा बिहार और उत्तराखंड से तार!

मुस्लिम महिलाओं को कथित रुप से बदनाम करने के लिए शुरू किया गया बुली बाई ऐप मामले का तार उत्तराखंड के साथ ही बिहार से भी जुड़ गया है।

मुस्लिम महिलाओं की नीलामी वाले बुली बाई ऐप ने विवाद खड़ा कर दिया है। इस संबंध में पुलिस भी तेजी से कार्रवाई कर रही है। इस मामले में मुंबई पुलिस की साइबर सेल ने विशाल कुमार झा को बेंगलुरु से गिरफ्तार किया है। उसके बाद पुलिस ने इस मामले में उत्तराखंड की एक 18 वर्षीय लड़की को गिरफ्तार किया है।उसे मुख्य आरोपी बताया जा रहा है।

लड़की को उत्तराखंड के रुद्रपुर से गिरफ्तार किया गया है। मुंबई साइबर पुलिस द्वारा मामला दर्ज करने के बाद यह दूसरी गिरफ्तारी है। इससे पहले साइबर पुलिस ने विशाल कुमार झा को बेंगलुरु से गिरफ्तार किया था।

बिहार का रहने वाला है विशाल
बिहार के मूल निवासी विशाल सिविल इंजीनियरिंग के दूसरे वर्ष में पढ़ रहा है। विशाल ने गिरफ्तार लड़की से सोशल मीडिया पर संपर्क किया था। इस बीच विशाल के वकीलों ने आरोप लगाया है कि उसे गलत तरीके से फंसाया गया है।

मुंबई लाई जाएगी मुख्य आरोपी
इस बीच लड़की को उधम सिंह नगर जिले में एक न्यायाधीश के समक्ष पेश किया गया और उसे मुंबई पुलिस को सौंपने  की अनुमति दे दी गई है। जिला पुलिस ने कहा कि पुलिस और लड़की अभी भी उत्तराखंड में हैं और मुंबई से महिला पुलिस अधिकारी के आने का इंतजार कर रहे हैं।

ये भी पढ़ेंः बुली बाई की ‘बाई’ गिरफ्तार! जानिये, कौन है वो मास्टमाइंड महिला

उत्तराखंड पुलिस ने रखा अपना पक्ष
पुलिस ने लड़की की भूमिका के बारे में कोई जानकारी नहीं दी है, लेकिन उसे मुख्य आरोपी माना जा रहा है। इस बीच, उत्तराखंड पुलिस ने स्पष्ट किया है कि उसने मामले की जांच नहीं की है। उसने कहा कि केवल मुंबई पुलिस ने लड़की से पूछताछ की है। उत्तराखंड पुलिस आयुक्त ने कहा, “उत्तराखंड पुलिस ने लड़की को गिरफ्तार करने में एक महिला कांस्टेबल के साथ मुंबई पुलिस की मदद की, क्योंकि उसके पास महिला कांस्टेबल नहीं थी।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here