खुलासा: तो दाऊद के आतंकी ‘जान’ की उस हरकत से हिल जाता अंडरवर्ल्ड!

आतंकी गतिविधि में संलिप्त जान मोहम्मद के अंतरराष्ट्रीय कार सामने आ रहे हैं।

मुंबई के जान मोहम्मद उर्फ समीर कालिया के विषय में मुंबई एटीएस को नई जानकारियां मिल रही हैं। जिसमें एक महत्वपूर्ण जानकारी सामने आई है कि जान मोहम्मद अंतरराष्ट्रीय आतंकी दाऊद इब्राहिम के लिए मचमच करने दुबई और बहरीन भी गया था। वहां यदि वो सफल हो जाता तो यह अंडवर्ल्ड के इतिहास में बड़ी घटना हो जाती। जिससे दाऊद का आतंकी सिक्का दुबई में अधिक मजबूती से जम जाता।

जान मोहम्मद पर भले ही लंबे समय से आतंकी या गंभीर अपराध की कोई घटना पंजीकृत न हुई हो, लेकिन उसका संपर्क दाऊद गिरोह से लगातार बना हुआ था। उसकी संशयास्पद गतिविधियों के कारण एटीएस उस पर निगरानी रख रही थी। जब जान मोहम्मद दुबई और बहरीन गया तो इसकी जानकारी एटीएस के पास थी, लेकिन वह क्यों गया था यह पता नहीं कर पाई।

ये भी पढ़ें – मुंबई एटीएस के हाथ आया ‘जान’ का ‘वो’ मोहरा

मचमच के लिए गया दुबई
अब जब जान मोहम्मद भारत के विरुद्ध आतंकी षड्यंत्र रचने के मामले में गिरफ्तार हो चुका है तो, नई जानकारियां सामने आ रही हैं। उसमें जान के बहरीन और दुबई जाने की जानकारी भी है। एटीएस सूत्रों के अनुसार दाऊद इब्राहिम ने अपने पुराने साथी अली बुदेश की हत्या की सुपारी दी थी। इसका काम छोटा शकील को दिया गया था, वहां से इस काम की सुपारी फहीम मचमच को दी गई थी। फहीम मचमच के कहने पर जान मोहम्मद बहरीन और दुबई में अली बुदेश की हत्या करने गया था।

जान की परवाह में लौटा
जान मोहम्मद ने अली बुदेश की हत्या के लिए उसके ठिकानों की रेकी की थी। जिसमें उसने पाया कि अली बुदेश दुबई का बड़ा आदमी है, यदि उसकी हत्या करते हैं तो जान मोहम्मद जीवित भारत नहीं लौट पाता। अपनी जान की परवाह करते हुए जान मोहम्मद डरकर भारत लौट आया।

कभी दाऊद के साथ था अली बुदेश
अली बुदेश और दाऊद इब्राहिम कभी साथ काम करते थे। अंडरवर्ल्ड के सूत्रों के अनुसार अली बुदेश के नेटवर्क के माध्यम से ही दाऊद दुबई पहुंचा था। कुछ वर्षों बाद दाऊद और अली बुदेश के संबंध बिगड़ गए और अली ने पाकिस्तान में दाऊद के विरोधियों से हाथ मिला लिया। जिससे गुस्साए आतंकी दाऊद इब्राहिम ने अली बुदेश को मारने की सुपारी दे दी। हत्या की यह सुपारी दाऊद के खास छोटा शकील ने फहीम मचमच को सौंप दी थी। फहीम मचमच ने इसके लिए जान मोहम्मद को चुना और उसे विदेश भेज दिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here