ताइवान की सीमा में घुसे चीन के लड़ाकू विमान, फिर क्या हुआ? जानिये, इस खबर में

अमेरिका कई बार आशंका जता चुका है कि चीन ताइवान पर हमला कर सकता है। अमेरिका ने यह भी खुला ऐलान कर दिया है कि अगर ऐसा होता है तो वह ताइवान की मदद के लिए सेना भेजेगा।

ताइवान की सीमा में फिर से घुसे चीनी युद्धक विमानों को ताइवान ने खदेड़ दिया है। जानकारी के अनुसार चीन के 29 लड़ाकू विमान ताइवान के इलाके में दाखिल हो गए, जिसके बाद ताइवान ने अपने जेट विमानों के जरिए उन्हें खदेड़ दिया है। चीन इससे पहले भी घुसपैठ की कोशिश कर चुका है।

ताइवान का दावा है कि उसने चीन के विमानों को अपने जेट विमानों से खदेड़ दिया है। माना जा रहा है कि चीन की यह हरकत पूरे इंटो-पैसिफिक क्षेत्र के लिए बुरी खबर है।

ये भी पढ़ें – देश की सबसे प्रतिष्ठित ‘महाराष्ट्र बॉक्सिंग असोसिएशन’ के अध्यक्ष बने रणजीत सावरकर

ताइवान जता चुका है आशंका
बता दें कि अमेरिका कई बार आशंका जता चुका है कि चीन ताइवान पर हमला कर सकता है। अमेरिका ने यह भी खुला ऐलान कर दिया है कि अगर ऐसा होता है तो वह ताइवान की मदद के लिए सेना भेजेगा।

चीन का इनकार
चीन की एक मानवाधिकार कार्यकर्ता ने दावा किया था कि एक ऑडियो क्लिप में चीन की गुप्त योजना कैद है। उन्होंने 57 मिनट की एक ऑडियो क्लिप जारी की थी और दावा किया था कि इसमें चीन के टॉप सैन्य अधिकारी ताइवान पर हमले की बात कर रहे हैं। हालांकि इस ऑडियो के सामने आने के बाद चीन ने इस बात से साफ इनकार कर दिया था। बताया जा रहा है कि पहली बार ऐसा हुआ था कि चीन का कोई प्लान इस तरह लीक हो गया था।

चीन की चाल
इस ऑडियो के मुताबिक चीन की सेना पर्ल नदी डेल्टा के पास एक सी डिफेंस ब्रिगेड बनाना चाहती थी। इस इलाके को चीनी उद्योग का केंद्र माना जाता है। इस नदी डेल्टा में चीन के कई महत्वपूर्ण शहर हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here