मालेगांव का संदिग्ध पीएफआई कार्यकर्ता दूसरी बार गिरफ्तार!

मालेगांव सेशन कोर्ट ने गिरफ्तार आरोपित मौलाना इरफान दौलत नदवी को 14 दिन तक एटीएस कस्टडी में भेज दिया है। मामले की गहन छानबीन एटीएस की टीम कर रही है।

नासिक जिले के मालेगांव में एंटी टेरोरिस्ट स्कॅाड (एटीएस) की टीम ने प्रतिबंधित संगठन पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) के एक संदिग्ध कार्यकर्ता को दूसरी बार गिरफ्तार किया है। मालेगांव सेशन कोर्ट ने गिरफ्तार आरोपित मौलाना इरफान दौलत नदवी को 14 दिन तक एटीएस कस्टडी में भेज दिया है। मामले की गहन छानबीन एटीएस की टीम कर रही है।

सूत्रों के अनुसार संदिग्ध मौलाना नदवी इमाम परिषद का अध्यक्ष है। इससे पहले 27 सितंबर को एटीएस ने मालेगांव में 7 संदिग्ध पीएफआई कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार किया था। इनमें से छह आरोपित अभी भी जेल में हैं, जबकि मौलाना इरफान दौलत नदवी को जमानत मिल गई थी। कोर्ट से जमानत मिलने के बाद एटीएस मौलना पर नजर रखे हुए थी, लेकिन मौलाना जमानत मिलने के बाद भी पीएफआई की गतिविधियों में शामिल हो गए थे। इसी वजह से एटीएस ने शनिवार को तड़के पूछताछ के लिए उसके आवास से इरफान को हिरासत में लिया गया था। पूछताछ के बाद रविवार देर रात एटीएस ने मौलना को गिरफ्तार कर लिया और सोमवार को आज मालेगांव सेशन कोर्ट में पेश किया। कोर्ट ने मौलाना को 14 दिन के लिए एटीएस कस्टडी में भेज दिया। एटीएस की टीम मौलाना इरफान दौलत नदवी से गहन पूछताछ कर रही है।

यह भी पढ़ें – प्लेसेस ऑफ वर्शिप एक्ट: सर्वोच्च न्यायालय ने केंद्र को 12 दिसंबर तक जवाब दाखिल करने का समय दिया

दरअसल, देशविरोधी गतिविधियों में लिप्त होने की वजह से एटीएस और एनआईए ने सितंबर महीने में कई राज्यों में एकसाथ छापेमारी की थी। इसके बाद केंद्र सरकार ने पीएफआई संगठन को प्रतिबंधित कर दिया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here