एसएसबी के जवानों ने तस्कर को दबोचा, ‘इतने’ मवेशी भी कराए गए मुक्त

इन दिनों किशनगंज एनएच 27 के रास्ते मवेशियों की तस्करी काफी बढ़ गई है। मवेशी तस्कर किशनगंज को सेफ जोन मानकर तस्करी कर रहे हैं।

एसएसबी 12वीं बटालियन के जवानों ने गुप्त सूचना पर छापेमारी कर तस्करी के 29 मवेशियों को जब्त किया है। एनएच 27 स्थित फरिंगगोड़ा चेक पोस्ट पर की गई कार्रवाई के दौरान कंटेनर सवार एक तस्कर को भी गिरफ्तार किया गया है।

जानकारी के अनुसार गुप्त सूचना के बाद एसएसबी 12वीं बटालियन के कमांडेंट मुन्ना सिंह के निर्देश पर एक टीम का गठन किया। टीम फरिंगगोड़ा चेकपोस्ट पर घात लगाकर बैठ गई। इसी दौरान जवानों ने किशनगंज की दिशा से तेज रफ्तार से आ रही कंटेनर को रोका। कंटेनर में 29 मवेशियों को क्रुरता पूर्वक रखा गया था। पूछताछ के दौरान कंटेनर चालक ने मवेशियों के संबंध में ना तो संतोषजनक जवाब दिया और ना ही वैध कागजात प्रस्तुत कर सका। नतीजतन मवेशियों को जब्त और चालक को गिरफ्तार कर सदर थाना पुलिस को घटना की जानकारी दी गई। असम के कोकराझाड़ जिले के उदलपुरी भेड़यागुड़ी निवासी आरोपी मैनुल पिता अनिमुद्दीन मवेशियों को तस्करी कर असम ले जा रहा था।

यह भी पढ़ें – चीन में कोरोना के बढ़ते प्रकोप पर डब्ल्यूएचओ ने जताई चिंता, मांगा डेटा

बड़े पैमाने पर की जाती है मवेशियों की तस्करी
गौरतलब है कि इन दिनों किशनगंज एनएच 27 के रास्ते मवेशियों की तस्करी काफी बढ़ गई है। मवेशी तस्कर किशनगंज को सेफ जोन मानकर तस्करी कर रहे हैं। सूत्रों से मिल रही जानकारी के अनुसार पशु तस्कर का किशनगंज बिहार बस स्टैंड में रात्रि 11 बजे के बाद हुजूम लगता है। इस बारे में कई बार खबर भी प्रकाशित की गई है, पर कोई कार्रवाई अब तक नहीं हुई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here