कोरोना काल में भी भारतीय लघु उद्योग विकास बैंक की अच्छी छलांग, बढ़ा लाभांश

भारतीय लघु उद्योग विकास बैंक (सिडबी) के लाभांश में 3.6 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है। यह घोषणा बैंक की 23वीं वार्षिक आम बैठक में की गई। यह परिणाम इसलिए भी बड़ा है क्योंकि यह कोरोना के संकट के समय का है, जो देश के औद्योगिक विकास का भी परिचायक है।

  • बैंक के अनुसार परिचालन से मिलनेवाले लाभ में उसे 8 प्रतिशत की वृद्धि के साथ रु.4,063 करोड़ रुपए का लाभ हुआ है।
  • वित्त वर्ष 2021 में निवल लाभ बढ़कर रु.2,398 करोड़ हो गया है, जो वर्ष 2020 में यह रु. 2,315 करोड़ था।
  • इसके अलावा ब्याज से प्राप्त होनेवाली आय (एनआईआई) 11.5% की वृद्धि के साथ रु.3678 करोड़ रही, जबकि वित्त वर्ष 2020 में यह रु.3299 करोड़ था।
  • इसके अलावा गैर-ब्याज आय मामूली रूप से घटकर रु.944 करोड़ रुपए रही, जबकि वित्त 2020 में यह रु.1,069 करोड़ थी।

ये भी पढ़ें – तो पाकिस्तान में मिसाइल हमला करेगा चीन

  • 31 मार्च, 2021 तक कुल अग्रिम मामूली रूप से 5.6 प्रतिशत घटकर 1,56,233 करोड़ रुपए रह गया, जो 31 मार्च, 2020 तक 1,65,422 करोड़ रुपये था।
  • प्रति शेयर आय 43.51 रुपये से बढ़कर 45.09 रुपये हो गई
  • 31 मार्च, 2020 तक सकल एनपीए 1,040.84 करोड़ रुपये से घटकर 31 मार्च, 2021 तक 282.31 करोड़ रुपए हो गया, जबकि इसी अवधि के दौरान शुद्ध एनपीए 658.64 करोड़ रुपये से घटकर 185.25 करोड़ रुपये हो गया

सिडबी के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक, शिव सुब्रमण्यम रमन ने कहा,
सिडबी एमएसएमई क्षेत्र के सामने आने वाली कोविड-19 चुनौतियों के प्रति उत्तरदायी रहा है। एमएसएमई क्षेत्र की उभरती आवश्यकताओं को पूरा करने  के लिए, सिडबी ने डिजिटल पोर्टलों के माध्यम से राष्ट्रीय मिशनों को सशक्त बनाने, तंत्र को मजबूत करने के लिए 11 राज्यों में परियोजना प्रबंधन इकाइयों की स्थापना की, 7 राज्यों में 1,700 महिला गृहस्वामियों का समर्थन करने, 100 स्वावलंबन की स्थापना सहित अपने विकास कार्यों को जारी रखा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here