कश्मीर में जांच एजेंसियों के छापे, यह है प्रकरण

जम्मू कश्मीर में आतंकियों के सहायकों पर कार्रवाई का डंडा चल रहा है। अब वहां मोबाइल सिम कार्ड उपलब्ध करानेवालों की धरपकड़ की सिलसिला चल रहा है।

दक्षिण कश्मीर में कई स्थानों पर राज्य जांच एजेंसी (एसआईए) ने शनिवार सुबह छापेमारी की है। यह छापेमारी उन लोगों के घरों और दुकानों में की गई है, जो कश्मीर में मोबाइल फोन और सिम कार्ड बेचने का काम करते हैं।

आतंकियों को सिम कार्ड
सूत्रों का कहना है कि एसआईए को सुबूत मिले हैं कि कश्मीर में सक्रिय आतंकवादियों-राष्ट्रविरोधी तत्वों को फर्जी दस्तावेजों के आधार पर सिम कार्ड और लेटेस्ट मोबाइल फोन दुकानदारों द्वारा उपलब्ध करवाए जा रहे हैं। हालांकि अभी तक अधिकारिक तौर पर किसी अधिकारी ने इस बात की पुष्टि नहीं की है कि यह छापेमारी किस संबंध में की जा रही है।

ये भी पढ़ें – पश्चिम बंगाल भाजपा को गृहमंत्री का वह गुरु मंत्र, घावों पर दवाई या दर्द?

इनके यहां पड़े छापे
एसआईए की अलग-अलग टीमों ने स्थानीय पुलिस और सीआरपीएफ के जवानों के साथ पुलवामा के लस्सीपोरा, चांदगाम, अवंतीपोरा के ब्राव बंदिया और कुलगाम के चावलगाम इलाके में स्थित मोबाइल फोन एवं सिम कार्ड बेचने वालों के घरों व दुकानों में पहुंचकर जांच शुरू की है। जिन लोगों के घरों एवं दुकानों पर जांच चल रही है, उनमें श्रीनगर में मोहम्मद अमीन खान निवासी लालबाजार, मोहम्मद युसुफ धानी निवासी बरबरशाह, सलीम अहमद मलिक निवासी लासजन नौगाम, बासित सैयद नारवारी निवासी कानी मजार नवाकदल और वसीम शफी बट शामिल हैं। लाल बाजार के मो. अमीन खान का मोबाइल फोन का कारोबार बडगाम में भी है। बडगाम जिले में ही नासिर अली मल्ला, सयार अहमद मीर और जुनैद मीर के घर व दुकान की तलाशी भी ली गई है। इसके अलावा पुलवामा और कुलगाम में कुछ लोगों के घरों व दुकानों पर जांच चल रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here