Shraddha Murder Case: गुस्से में लड़की के दोस्त, आफताब के लिए की ये मांग

श्रद्धा हत्याकांड पर मृतका के दोस्त रजत शुक्ला ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि मेरी दोस्त के साथ यह दुर्भाग्यपूर्ण घटना हुई है।

पालघर के वसई की रहने वाली 26 वर्षीय की लड़की की उसके बॉयफ्रेंड आफताब पूनावाला ने दिल्ली में बेरहमी से हत्या कर दी। इस मर्डर केस में हर दिन नए खुलासे सामने आ रहे हैं। आरोपी आफताब ने लड़की की हत्या करने के बाद उसके शरीर के करीब 35 टुकड़े कर दिए। इस मामले के सामने आने के बाद पूरे देश में गुस्सा जाहिर किया जा रहा है। इस बीच मृतका श्रद्धा के दोस्त रजत शुक्ला ने अपनी भावनाएं व्यक्त की हैं।

रजत शुक्ला के दोस्त ने रोष जताते हुए कहा कि आफताब को भी उसी तरह सजा दी जाए, जैसे श्रद्धा के 35 टुकड़े किए गए थे, उसके भी 35 टुकड़े कर दिए जाएं।

हम स्तब्ध हैं
इस हत्याकांड पर मृतका श्रद्धा के दोस्त रजत शुक्ला ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि मेरी दोस्त के साथ यह दुर्भाग्यपूर्ण घटना हुई है। जब हमें इस घटना के बारे में पता चला तो हम स्तब्ध रह गए। हमें उसके लापता होने की जानकारी मई में ही मिली थी, लेकिन हमें लगा कि वह कहीं घूमने गई होगी। फिर भी वह कहां होगी, कैसे होगी सैकड़ों सवाल मन में उठ रहे थे।

‘वह बहुत ही समझदार लड़की थी’
रजत ने कहा ,”इस मामले के सामने आने के बाद, हम विश्वास नहीं कर सकते कि हम किस दुनिया में रह रहे हैं। श्रद्धा और मैंने 2015 से 2018 तक ग्रेजुएशन किया। हमने 2019 में भी साथ में परीक्षा दी थी। तब तक वह मेरे संपर्क में थी। उससे पहले हम नाट्य शिक्षा के अवसर पर साथ थे। हम बहुत बातें किया करते थे। वो बहुत समझदार लड़की थी, उसका भविष्य उज्ज्वल था। उसे बात करना पसंद था। श्रद्धा की दोस्त ने कहा कि वह जॉली लड़की थी।”

आफताब के भी कर दिए जाएं 35 टुकड़े
रजत ने कहा, “हम इस दुर्भाग्यपूर्ण घटना से बहुत दुखी हैं। मेरे पास अपना दुख व्यक्त करने के लिए शब्द नहीं हैं। मैं हाथ जोड़कर विनती करता हूं कि इस मामले को जल्द से जल्द फास्ट ट्रैक कोर्ट में ले जाया जाए। साथ ही इसकी सीबीआई से जांच कराई जाए। आफताब कौन है? कौन उसका समर्थन करता है? वह किससे जुड़ा है? यह सब सामने लाने की जरूरत है। क्योंकि उसने अपनी गर्ल फ्रेंड के 35 टुकड़े किए। यह असंभव लगता है। मुझे डर है कि वह किसी आतंकवादी या धार्मिक आंदोलन से जुड़ा हो सकता है। इसलिए इसकी जांच की जरूरत है। जो श्रद्धा का हुआ, वो आफताब का होना चाहिए, उसके भी 35 टुकड़े कर दिए जाने चाहिए। आफताफ के लिए इससे छोटी कोई सजा नहीं हो सकती.”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here