लुहांस्क प्रांत के स्कूल पर रूसी हमला, ‘इतने’ लोगों की मौत

महीनों के बाद यूक्रेन को लेकर रूस के रुख में बदलाव आया है। 6 मई को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की बैठक में रूस ने अन्य 14 सदस्य देशों के साथ यूक्रेन में शांति और सुरक्षा की स्थिति पर गहरी चिंता जताई।

यूक्रेन के लुहांस्क क्षेत्र के गांव बिलोहोरीवका के एक स्कूल पर रूस के हमले में 60 से अधिक लोग मारे गए हैं। इस स्कूल में करीब 90 से ज्यादा लोगों ने शरण ले रखी थी। उनमें से 30 लोगों को बचा लिया गया और 7 लोग घायल हैं।

लुहांस्क क्षेत्र के गवर्नर शेरी गैदाई ने कहा कि रूस ने 7 मई को उस स्कूल पर बम गिराया, जिसमें करीब 90 लोगों ने शरण ले रखी थी। उनमें से 30 लोगों को बचा लिया गया और 7 लोग घायल हैं। उन्होंने कहा कि इमारत के मलबे में दबे 60 लोगों के मारे जाने की आशंका है।

यूक्रेन के मारियूपोल पर कब्जे के बाद रूसी सेना डोनेस्क, लुहांस्क और खार्कीव पर लगातार बड़े हमले कर रही है। यूक्रेन के दूसरे बड़े शहर खार्कीव पर कब्जे की लड़ाई में यूक्रेनी सेना के जवाबी हमलों को कमजोर करने के लिए रूसी सेना ने शनिवार को इलाके के तीन पुलों को उड़ा दिया। खार्कीव क्षेत्र में बोहोडुखीव रेलवे स्टेशन के नजदीक बनाए गए शस्त्रागार को भी रूसी सेना ने मिसाइल हमले में नष्ट कर दिया।

यूक्रेन पर जारी हमलों के बीच मास्को में रविवार को विजय दिवस परेड की ड्रेस रिहर्सल हुई। रूस ने कहा है कि 9 मई को होने वाला कार्यक्रम दक्षिण-पूर्वी यूक्रेन में युद्ध से तबाह बंदरगाह शहर मारीपोल में आयोजित नहीं किया जा सकता। पिछले कुछ दिनों में कई रिपोर्टों ने इस बात की जानकारी दी थी कि रूसी सेना मारीपोल शहर में एक भव्य परेड की योजना बना रही है।

महीनों के बाद यूक्रेन को लेकर रूस के रुख में बदलाव आया है। 6 मई को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की बैठक में रूस ने अन्य 14 सदस्य देशों के साथ यूक्रेन में शांति और सुरक्षा की स्थिति पर गहरी चिंता जताई। वहां पर संयुक्त राष्ट्र महासचिव की अगुआई में शांति स्थापित करने के प्रयासों की आवश्यकता जताई। 24 फरवरी को यूक्रेन पर हमले के बाद रूस के रुख में यह बड़ा बदलाव है और उसने पहली बार यूक्रेन पर अमेरिका, ब्रिटेन और फ्रांस से भिन्न मत जाहिर नहीं किया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here