रूस-यूक्रेन युद्धः मारियुपोल में अभी भी फंसे हैं कई नागरिक! जानिये, कितने लाख लोगों ने छोड़ा देश

मारियुपोल करीब आठ सप्ताह के लंबे युद्ध की सबसे खराब हालात से जूझ रहा है। जानकारी के अनुसार यहां से कुछ नागरिक 20 अप्रैल को एक छोटे बस काफिले में शहर छोड़ने में कामयाब रहे।

रूसी राष्ट्रपति वोलोदिमीर जेलेंस्की ने कहा कि मारियुपोल के स्टील प्लांट में अभी भी 1,000 नागरिक फंसे हुए हैं, जहां यूक्रेनी सेना अपना अंत तक मोर्चा संभाले हुए है। वहीं रूस द्वारा 20 अप्रैल तक आत्मसमर्पण करने की समय सीमा खत्म हो गई है।

जेलेंस्की ने कहा कि मारियुपोल करीब आठ सप्ताह के लंबे युद्ध की सबसे खराब हालात से जूझ रहा है। जानकारी के अनुसार यहां से कुछ नागरिक 20 अप्रैल को एक छोटे बस काफिले में शहर छोड़ने में कामयाब रहे। संयुक्त राष्ट्र ने कहा कि 24 फरवरी को रूस के आक्रमण के बाद से यूक्रेन से पलायन करने वाले शरणार्थियों की कुल संख्या अब 50 लाख से ऊपर हो गई है, जिनमें आधे से ज्यादा बच्चे हैं।

ये भी पढ़ें – भोंगे पर उंगली उठाते ही ‘पांडे जी’ की हो गई बदली… देखें आईपीएस अधिकारियों के तबादले की सूची

डोनबास में भयंकर लड़ाई जारी
यूक्रेन ने कहा कि डोनबास में भयंकर लड़ाई जारी है, जहां उसने हजारों रूसी सैनिकों को रोक दिया है। अलगाववादियों की ओर से मास्को के दो पूर्वी प्रांतों को जब्त करने का एक नया अभियान है। उधर रूस के रक्षा मंत्रालय ने जारी बुलेटिन में कहा कि उसके बलों ने पूर्वी यूक्रेन में दर्जनों सैन्य सुविधाओं पर हमले किए थे और कोरोविय यार गांव के पास एक यूक्रेनी एमआई -8 हेलीकॉप्टर को मार गिराया था।

कुछ नागरिकों को निकाला गया
मारियुपोल शहर के अधिकारियों ने 20 अप्रैल को कहा था कि उन्हें रूस के साथ प्रारंभिक समझौते के तहत एक सुरक्षित गलियारा स्थापित करने पर पहली बार लगभग 6,000 लोगों को निकालने की उम्मीद है। लेकिन मारियुपोल में अजोव रेजिमेंट के डिप्टी कमांडर शिवतोस्लाव कलामार ने बाद में यूक्रेनी टीवी को बताया कि नागरिक बहुत भयभीत थे क्योंकि अजोवस्टल पर लगातार बमबारी जारी थी। कलामार ने कहा कि संयंत्र के तहत कई बंकरों में अभी भी लगभग 80-100 नागरिक हैं।

राष्ट्रपति जेलेंस्की ने कहा कि वह फंसे हुए नागरिकों और यूक्रेनी सैनिकों के लिए सुरक्षित मार्ग के बदले रूसी कैदियों की अदला-बदली करने के लिए तैयार हैं।

रूस ने एक दिन में दागे एक हजार गोले
मारियुपोल के स्टील फैक्टरी में घिरे ढाई हजार यूक्रेनी सैनिकों के हथियार डालने से इनकार करने के बाद रूसी सेना ने इन सैनिकों और लड़ाकों को आत्मसमर्पण करने के लिए एक हजार से अधिक बमों की बारिश की। 24 घंटों में रूसी सेना ने 1,053 गोले दागे, जबकि 73 हवाई हमले किए, लेकिन मुख्य निशाना पूर्वी यूक्रेन का डोनेस्क और लुहांस्क इलाका ही रहा।

अमेरिका, ब्रिटेन व फ्रांस देंगे अतिरिक्त हथियार
पूर्वी यूक्रेन में तेज हुए रूसी हमलों से मुकाबले के लिए अमेरिका, ब्रिटेन, फ्रांस और कनाडा ने यूक्रेन को हथियारों की अतिरिक्त मदद का भरोसा दिया है। अमेरिकी सरकार ने चंद रोज में नई सैन्य सहायता का ऐलान करने का संकेत दिया है। रूसी टैंकों और तोपों ने एक दिन में एक हजार से ज्यादा गोले दागे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here