रूस के हमले में विदेशी हथियारों का भंडार तबाह? यूक्रेन ने कही ये बात

रूस के भीषण हमलों के मद्देनजर अब हर कोई शहर से निकलकर सुरक्षित स्थानों पर जाना चाहता है

रूस ने 12 जून को यूक्रेन को मिले विदेशी हथियारों की खेप को क्रूज मिसाइल से हमला कर नष्ट कर दिया। यूक्रेन को ये विदेशी हथियार रूसी सेना के साथ चल रहे युद्ध में लड़ने के लिए दिए गए थे। ये हथियार यूक्रेन को अमेरिका और यूरोपीय देशों से मिले थे, लेकिन रूसी सेना ने 12 जून को यूक्रेन के पश्चिमी टर्नोपिल इलाके में क्रूज मिसाइल से हमला कर इन हथियारों का भंडार नष्ट कर दिया।

हमले में 22 लोग हुए घायल
टर्नोपिल क्षेत्र के गवर्नर ने बताया है कि चोर्टकीव शहर में स्थित सैन्य ठिकाने पर काला सागर से दागी गईं क्रूज मिसाइलों ने हमला किया। इस हमले में 22 लोग घायल हुए हैं। वहीं सैन्य ठिकाने से जुड़े अधिकारी ने वहां पर विदेशी हथियारों का भंडार होने से इनकार किया है।

ये भी पढ़ें – जामा मस्जिद प्रदर्शन मामलाः आरोपियों के बुरे दिन शुरू! जानिये, अब तक कितनों पर कसा शिकंजा

सेना विदेशी हथियारों की आपूर्ति को बनाएगी निशाना 
उधर, रूस ने अमेरिका और यूरोपीय देशों से हथियार देकर युद्ध नहीं भड़काने के लिए कहा है। रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने कहा है कि उनकी सेना विदेशी हथियारों की आपूर्ति को निशाना बनाएगी।

रूसी हमले से लगी आग 
इस बीच लुहांस्क के गवर्नर सेरही गैदाई के अनुसार औद्योगिक शहर सीविरोडोनेस्क में सड़कों पर लड़ाई चल रही है। हजारों लोग कारखानों में शरण लिए हुए हैं। 11 जून को जिस अजोट रासायनिक संयंत्र में रूसी हमले से आग लगी थी, वहां पर 800 लोगों ने शरण ले रखी है। शरण लेने वालों में ज्यादातर संयंत्र के कर्मचारी और उनके परिवार के लोग हैं। रूस के भीषण हमलों के मद्देनजर अब हर कोई शहर से निकलकर सुरक्षित स्थानों पर जाना चाहता है लेकिन गोलाबारी और बमबारी के बीच निकलना संभव नहीं है। पड़ोसी शहर लिसिचांस्क की भी कमोबेश यही स्थिति है।

यूरोपीय संघ में शामिल हो सकता है यूक्रेन, सदस्यों ने जताई सहमति
रूस-यूक्रेन युद्ध के बीच यूरोपीय आयोग की प्रेसिडेंट उर्सला वॉन डेर लिएन दूसरी बार कीव पहुंची हैं। इस दौरान उन्होंने यूक्रेन के राष्ट्रपति जेलेंस्की के साथ मुलाकात कर युद्ध के ताजा हालात की जानकारी ली। दोनों नेताओं ने यूक्रेन और यूरोपीय संघ के बीच सहयोग बढ़ाने के तरीकों पर भी चर्चा की। इस मुलाकात के दौरान राष्ट्रपति जेलेंस्की ने यूक्रेन के यूरोपीय संघ में शामिल होने का मुद्दा भी उठाया।

आगामी सप्ताह में महत्वपूर्ण घोषणा
इसका जवाब देते हुए उर्सला वॉन डेर लिएन ने कहा कि चालू सप्ताह में यूक्रेन को सदस्यता मिल सकती है। यूक्रेन को सदस्यता देने के लिए सभी 27 सदस्य देश सहमत हैं, इसलिए कुछ औपचारिकताओं के बाद आगामी सप्ताह में महत्वपूर्ण घोषणा हो सकती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here