अब चिकन को बर्ड फ्लू की बीमारी मार गई!

बर्ड फ्लू की आहट के बाद चिकन के भाव गिरने लगे हैं। देश भर के बाजारों में इसकी वजह से चिकन की मांग कम हो गई है। इस कारण इसके भाव तेजी से गिरने लगे हैं। मिल रही खबर के अनुसार देश के अलग-अलग बाजार में इसकी कीमतों में 45 रुपए से 80 रुपए की कमी आ गई है।

60 रुपए तक गिर गए भाव
उत्तर प्रदेश के गाजीपुर मंडी में चिकन का भाव 60 रुपए तक गिर गया है। ग्राहकों मे खौफ है। बीते दो दिन में चिकन के भाव काफी नीचे आ गए हैं। एशिया की सबसे बडी चिकन मंडी गाजीपुर में ग्राहकों की कमी देखी जा रही है। होटलो में होनावाली चिकन सप्लाई पर भी असर पड़ा है। पहले यहां  चिकन 90 रुपए किलो से 105 रुपए किलो तक बिक रहा था। 6 जनवरी को भाव 80 रुपए किलो हो गया 7 जनवरी को 60 रुपए पर आ गया। बिहार के पटना में चिकन 90 रुपए प्रति किलो हो गया है। बर्ड फ्लू के कारण चिकन की मांग कम हो गई है। इसका असर चिकन व्यवसाय पर पड़ा है।गाजीपुर, दिल्ली-एनसीआर समेत अन्य शहरों में भी बर्ड फ्लू की आहट के कारण कीमतों में काफी गिरावट देखी जा रही है।

ये भी देखेंः अब बर्ड फ्लू से यहां एलर्ट मोड पर सरकार!

आगरा में बिक्री पर रोक
आगरा देश का पहला जिला बन गया है, जहां बर्ड फ्लू के संकट के बाद चिकन बिक्री पर रोक लगा दी गई है। 6 जनवरी को यहां 77 कौवे और 8 बगुले मृत पाए गए थे। इससे पहले मालवा और इंदौर में भी बडी संख्या में कौवे मरे हुए मिले थे।

हिमाचल प्रदेश में कांगड़ा जिले में एवियन फ्लू की पुष्टि के बाद चार सबडिवीजन सील कर दिए गए हैं। इन इलाकों में चिकन, अंडा और मछली बिक्री पर रोक लगा दी गई है।

महाराष्ट्र में असर नहीं
महाराष्ट्र में बर्ड फ्लू की आहट का ज्यादा असर नहीं देखा जा रहा है। चिकन पहले की तरह ही 150 से 170 रुपए प्रति किलो बिक रहे हैं, लेकिन अगले कुछ दिनों में यहां के बाजार पर भी इसका असर पड़ने की संभावना से इनकार नहीं किया जा सकता। देश के कई शहरों में  कौवे और बगुलों समेत अन्य पक्षियों के मरने के और मीडिया में आ रही खबरों के कारण लोगों में खौफ है।

ये भी पढ़ें: जयस्वालांच्या जागी ‘हे’ आहेत अतिरिक्त पोलीस महासंचालक

बर्ड फ्लू क्या है?
बर्ड फ्लू कई तरह के होते हैं, लेकिन एच-5-एन-1 एवियन इनंफ्लूंजा वायरस है, जो इंसानो को संक्रमित करता है। बर्ड फ्लू प्रायः जलीय पक्षियों बतख से फैलता है। ये पालतू मुर्गियों में आसानी से फैल जाते हैं। ये बीमारी संक्रमित पक्षी के मल, नाक के स्राव, मुंह के लार या आंखों से निकलनेवाले पानी से फैलती है। संक्रमित पक्षियों के संपर्क मे आनेवाले इंसान और जानवर इस वायरस से आसानी से संक्रमित हो जाते हैं।

ये हैं लक्षण

  • पूरी तरह से सांस न ले पाना
  • खांसने में दिक्कत होना
  • कफ का बनना और जमा होना
  • सिर दर्द बना रहना
  • उल्टी का एहसास होना
  • बुखार आने के साथ शरीर में अकड़न आना
  • शरीर मे दर्द रहना
  • थोड़ा काम करने पर थकान आ जाना
  • पेट मे दर्द रहना

ऐसे करें बचाव

  • घर में पालतू पक्षियों को न रखें
  • मौजूदा समय में खुले बाजार या छोटी जगहों से मांस न खरीदें
  • संक्रमण से बचने के लिए हाथों को लगातार धोते रहें और सेनेटाइज करें
  • पक्षियों के संपर्क में आने से बचें
  • बर्ड फ्लू के लक्षण दिखने पर 48 घंटे के भीतर डॉक्टर से संपर्क करें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here