पाकिस्तान में गृह युद्ध संभव? जानिये, क्या कह रहे हैं पूर्व मंत्री राशिद अहमद

राशिद अहमद ने कहा कि पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) पार्टी मई माह के अंत तक इस्लामाबाद की ओर लंबा मार्च निकलेगी और तब तक पीछे नहीं हटेगी, जब तक चुनाव की तारीख की घोषणा नहीं हो जाती।

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ को पूर्व गृहमंत्री शेख राशिद अहमद ने चेतावनी देते हुए कहा है कि अगर समय रहते आम चुनाव नहीं कराए गए तो देश में गृहयुद्ध हो सकता है। उन्होंने साथ यह भी कहा कि इमरान खान प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ से मिलकर जल्द चुनाव कराए जाने को लेकर बातचीत करने के लिए तैयार हैं।

 पाकिस्तान में बन सकते हैं गृह युद्ध के हालात
राशिद अहमद ने कहा कि पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) पार्टी मई माह के अंत तक इस्लामाबाद की ओर लंबा मार्च निकलेगी और तब तक पीछे नहीं हटेगी, जब तक चुनाव की तारीख की घोषणा नहीं हो जाती। उन्होंने कहा कि जल्द चुनाव न होने पर देश में गृहयुद्ध के हालात बन सकते हैं।

ये भी पढ़ें – जींद में असामाजिक तत्वों के हौसले बुलंद, संदिग्धों की तलाशी में गई पुलिस टीम के साथ किया ऐसा

‘युद्ध होने पर इमरान का दूंगा साथ’
राशिद ने आगे कहा है कि वह पीटीआई और सैन्य प्रतिष्ठान के बीच गलतफहमी को दूर करने करने की कोशिश कर रहे हैं। इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि मैं सेना के साथ शांति के पक्ष में हूं और सुलह चाहता हूं लेकिन ‘युद्ध’ की स्थिति में मैं इमरान खान के साथ खड़ा रहूंगा। उन्होंने आगे कहा है कि देश में लोकतंत्र को बनाए रखने का एकमात्र तरीका जल्दी चुनाव कराना है। अगर जल्द चुनाव नहीं कराए जाते हैं तो न शहबाज शरीफ की सरकार बचेगी और न ही इमरान सरकार की।

इमरान खान के कार्यकाल में कुछ दिक्कतें
राशिद ने माना कि इमरान खान के कार्यकाल में कुछ दिक्कतें रही, जिसके कारण बलूचिस्तान अवामी पार्टी (बीएपी), मुत्ताहिदा कौमी मूवमेंट और पाकिस्तान मुस्लिम लीग-क्यू जैसे सहयोगी दल हमसे अलग हो गए। उन्होंने बताया है कि इमरान खान इस्लामाबाद में लाखों लोगों को जमा करने जा रहे हैं और ऐसे में देश अनिश्चितता की स्थिति में चला जाएगा जिससे गृहयुद्ध हो सकता है।

इमरान खान की प्रशंसा
राशिद ने कहा कि अगर खान बड़ी संख्या में लोग इस्लामाबाद आते हैं तो इमरान खान की राजनीति राज करेगी। हमारी एकमात्र मांग जल्द चुनाव है। उन्होंने कहा कि हम शहबाज सरकार को गिराना नहीं चाहते हैं लेकिन आम चुनाव की तारीख की घोषणा किए बिना मार्च करने वाले इस्लामाबाद से नहीं लौटेंगे।

बता दें कि पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान पहले ही मई माह के अंतिम सप्ताह में इस्लामाबाद की ओर मार्च करने की घोषणा कर चुके हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here