लोकल ट्रेन के महिला डिब्बे में सुरक्षा नदारद, युवती के साथ दिन में ही सिरफिरे ने कर कर दी ऐसी घटना

मुंबई लोकल के महिला डिब्बों में भीड़ के समय होमगार्ड या रेलवे पुलिस के गार्ड तैनात रहते हैं।

पश्चिम रेलवे के चर्नी रोड और चर्चगेट स्टेशन के बीच एक युवती पर हमला हो गया। छात्रा सायं 5.30 बजे कॉलेज में प्रवेश के लिए जा रही थी। इस दौरान चलती लोकल में महिला डिब्बे में चढ़े एक सिरफिरे ने उसका बैग खींचने का प्रयत्न किया, प्रतिरोध करने पर उसने दुरव्यवहार शुरू कर दिया, परंतु एक महिला सहयात्री की सूझबूझ से लाज बच गई। महिला डिब्बे में कोई सुरक्षा गार्ड तैनात न होना लापरवाही माना जा रहा है।

मुंबई शहर में रहनेवाली 20 वर्षीय छात्रा कॉलेज प्रवेश के लिए जा रही थी। वह महिला डिब्बे में बैठी थी, जिसमें उसके अलावा एक अन्य महिला यात्री अपने छोटे बच्चों के साथ बैठी थी। इस महिला डिब्बे में कोई सुरक्षा गार्ड नहीं था, बल्कि गेट पर एक मैला कुचैला कपड़ा पहने व्यक्ति लटक रहा था। जैसे ही लोकल ट्रेन मुंबई सेंट्रल से चर्चगेट की ओर निकली ट्रेन के गेट पर लटक रहा व्यक्ति युवती के सामने बैठ गया। व्यक्ति ने युवती का बैग खींचने का प्रयत्न किया, जिसका युवती द्वारा प्रतिरोध करने पर हमला कर दिया, हमलावर व्यक्ति ने युवती के साथ दुरव्यवहार का प्रयत्न किया, युवती के होंठ चबा लिये।

ये भी पढ़ें – भाजपा ने जारी किए विधान परिषद के 16 उम्मीदवारों के नाम, पंकजा मुंडे को नहीं मिली जगह! देखिए, पूरी सूची

महिला सहयात्री की समझदारी
महिला डिब्बे में यात्रा कर रही महिला ने समझदारी दिखाते हुए ट्रेन की चेन खींच ली, जिसके बाद ट्रेन धीमी होते ही हमलावर घबराकर डिब्बे से भागने लगा। परंतु महिलाओं के हल्ला करने से दूसरे डिब्बों के पुरुष यात्रियों ने हमलावर को पकड़ लिया। इसी बीच वहां रेलवे पुलिस पहुंच गई थी। पुलिस ने हमलावर को गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ में हमलावर ने अपना नाम पप्पू यादव बताया है। वह गोरेगांव का रहनेवाला है और कचरा बिनता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here