शैक्षणिक राजधानी में अपराधों की आंधी… अब तो सरेआम गैंगवार

पुणे में लगातार दूसरे दिन अपराधियों ने दहला दिया है। शिरूर में सरेआम बैंक डकैती के बाद हवेली तहसील के एक होटल के सामने दो गिरोहों में मारकाट मच गई। इसमें दो लोगों की मौत हो गई है, जबकि एक शख्स घायल है।

बालू की लेनदेन या कुछ और इसी के आसपास पुणे के गैंगवार की कहानी घूम रही है। पुलिस इस प्रकरण में जांच कर रही है। इस प्रकरण में संतोष संपतराव जगताप पर हमला हुआ था, जिसमें उसने जवाबी हमला किया। इस हमले में संतोष की भी मौत हो गई है, जबकि हमलावरों में से भी एक की मौत हो गई है।

ये भी पढ़ें – शरजील बोला, ‘वह आतंकी नहीं!’ नहीं चला युक्तिवाद, जेलवास पर आया निर्णय

हवेली के राहू में अचानक गोली गूंजी
शुक्रवार दोपहर ढाई बजे संतोष जगताप अपने अंगरक्षक के साथ पुणे सोलापुर मार्ग के सोनई होटल पर पहुंचा था। वहां किसी से बात कर रहा था,0 इसी बीच पांच लोगों ने उस पर रिवॉल्वर और धारदार हथियार से हमला कर दिया। इस हमले में संतोष और उसका अंगरक्षक घायल हो गया, संतोष द्वारा की गई जवाबी गोलीबारी में एक हमलावर मारा गया, जबकि चार लोग भाग खड़े हुए। घायल अवस्था में सभी को विश्वराज अस्पताल ले जाया गया, जहां संतोष की अस्पताल पहुंचने से पहले ही मृत्यु हो गई थी, जबकि उसके अंगरक्षक का इलाज चल रहा है।

रही है आपराधिक पृष्ठभूमि
गैंगवार में मारे गए दोनों लोगों के बारे में जो जानकारी प्राप्त हुई है, उसके अनुसार दोनों ही आपराधिक पृष्ठभूमि के रहे हैं। दोनों जेल में थे। संतोष जगताप का नाम बालू माफिया के रूप में लिया जाता था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here