लश्कर ए तैएबा का आतंकी चढ़ा पुणे एटीएस के हत्थे, खुलेंगे कई षड्यंत्र

पुणे एटीएस ने संशयित आतंकी जुनैद की गिरफ्तारी के बाद अब लश्कर ए तैयबा की मॉड्यूल को ध्वस्त करने की ओर कार्य कर रही है।

आतंकवाद निरोधी दस्ते (एटीएस) की पुणे टीम ने आतंकवादी संगठन लश्कर-ए-तैयबा से संबद्ध एक संदिग्ध आतंकवादी को पकड़ा है। उस उत्तर प्रदेश के सहारनपुर जिले से गिरफ्तार किया है। संदिग्ध आतंकवादी इनामुल हक से पूछताछ में कई षड्यंत्र खुलने के आसार हैं।

जुनैद मिली थी टिप
जानकारी के अनुसार पुणे एटीएस ने इससे पहले जम्मू-कश्मीर में आतंकी संगठनों के संपर्क में रहने वाले बुलढाणा के युवक जुनैद मोहम्मद को गिरफ्तार किया था। जुनैद से गहन छानबीन के बाद इनामुल हक का नाम सामने आया था। इसके बाद एटीएस की टीम ने जुनैद की निशानदेही पर इनामुल हक को गिरफ्तार किया है। इन गिरफ्तारियों के माध्यम से एटीएस आतंक का बड़ा मॉड्यूल उध्वस्त कर रही है।

ये भी पढ़ें – “यह बंदा जेल में क्यों नहीं है!” अकबरुद्दीन ओवैसी के इस वीडियो पर अशोक पंडित ने पूछा सवाल

दस हजार में बना देशद्रोही
सूत्रों के अनुसार जुनैद मोहम्मद सोशल मीडिया के जरिए आतंकी संगठन के संपर्क में आया था। उसे आतंकवादी संगठन लश्कर-ए-तैयबा के लिए काम करने के लिए भुगतान किया गया था। जांच में पता चला है कि पैसा जम्मू-कश्मीर से मिला था। उसने 10 हजार रुपये लिए थे। बताया जा रहा है कि दिल्ली स्पेशल सेल ने एटीएस को जुनैद पर नजर रखने को कहा था, इसलिए लगातार एक हफ्ते की पूछताछ के बाद मोहम्मद जुनैद ने स्वीकार किया कि उसने 10 हजार रुपये लिए थे। जुनैद ने पूछताछ में बताया कि वह और इनामुल दोनों एक-दूसरे के संपर्क में थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here