मुंबई में दो सेक्स अड्डों पर पुलिस का छापा, 17 लड़कियों को कराया गया मुक्त, की जा रही है इस बात की जांच

विशेष सूचना मिलेन पर पिछले कुछ दिनों से पुलिस इन दोनों कॉल सेंटरों पर गुपचुप तरीके से नजर रख रही थी।

मुंबई क्राइम ब्रांच पुलिस ने पश्चिमी उपनगर में मलाड और कांदिवली में वीडियो काल सेक्स के दो कॉल सेंटरों पर छापा मारा और फोन सेक्स चैट रैकेट में कथित रूप से शामिल 17 लड़कियों को छुड़ाया है। उन्होंने कॉल सेंटर के एक मैनेजर और अन्य कर्मचारियों को गिरफ्तार किया है। पुलिस उपायुक्त (अपराध) संग्राम सिंह निशानदार के अनुसार मामले की गहन छानबीन जारी है, इसलिए अभी इस छापे का अधिकृत ब्योरा नहीं दिया जा सकता है।

गुप्त तरीके से मारा गया छापा
सूत्रों के अनुसार विशेष सूचना पर कार्रवाई करते हुए पिछले कुछ दिनों से पुलिस इन दोनों कॉल सेंटरों पर गुपचुप तरीके से निगरानी कर रही थी। इसके बाद क्राइम ब्रांच की टीमों ने सोमवार को देर रात मलाड और कांदिवली स्थित दो अड्डों पर छापेमारी की। पुलिस के अनुसार इन कॉल सेंटरों की कार्यप्रणाली यह थी कि ये स्कूल और कालेज जाने वाली लड़कियों अपने वीडियो काल के माध्यम से फंसाते थे। यहां इन लड़कियों को 270 रुपये से 10 हजार रुपये तक देकर गलत काम करवाते थे। पुलिस ने कहा कि वे अभी भी कानूनी रूप से जांच कर रहे हैं कि वीडियो फोन पर पकड़ी गई ये लड़कियां पीड़ित थीं या अपराध में भागीदार थीं।

इस बात की जांच जारी
एक अधिकारी ने नाम का उल्लेख न करने की शर्त पर कहा कि ऐसी मिसाल हैं, जिनमें मेहमानों द्वारा इन नंबरों पर कॉल करने के बाद उन्हें जबरन वसूली के लिए कॉल आए। हम यह भी सत्यापित कर रहे हैं कि क्या ये धंधेबाज ब्लैकमेलिंग और जबरन वसूली में भी शामिल थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here