Russia-Ukraine War: पोलैंड और नाटो ने कहा- गलती से दागी गई थी यूक्रेनी मिसाइल, रूस पर भी आरोपों से किया इनकार

यह मिसाइल यूक्रेन के रूस निर्मित एयर डिफेंस सिस्टम से छोड़ी गई थी, जो पोलैंड के सीमावर्ती गांव में आ गिरी।

पोलैंड में 15 नवंबर की रात को हुए मिसाइल हमले को लेकर आरोप-प्रत्यारोप के साथ ही एक-दूसरे को बचाने को लेकर बयानबाजी तेज हो गई है। यूक्रेनी राष्ट्रपति जेलेंस्की ने पोलैंड पर दागी गई मिसाइल को रूसी बताया है। इसी बीच पोलैंड और सैन्य गठबंधन नाटो ने स्पष्ट कर दिया कि गलती से एक यूक्रेनी मिसाइल पौलेंड में गिरी है। साथ ही दोनों ने रूस को क्लीन चिट दे दी है। इस हमले में दो लोगों की मौत हुई है।

माना जा रहा है कि यह मिसाइल यूक्रेन के रूस निर्मित एयर डिफेंस सिस्टम से छोड़ी गई थी, जो पोलैंड के सीमावर्ती गांव में आ गिरी। यूक्रेन के एयर डिफेंस सिस्टम ने यह मिसाइल रूसी मिसाइल हमले को विफल करने के लिए छोड़ी थी। पोलैंड के राष्ट्रपति आंद्रजेज डूडा ने कहा है कि यूक्रेन के डिफेंस सिस्टम ने एक साथ कई दिशाओं में मिसाइलें दागीं। उन्हीं में से एक मिसाइल सीमा पार कर पोलैंड के गांव में आ गिरी। इसके अतिरिक्त कोई मामला नहीं है। इसे पोलैंड पर जान-बूझकर हमला नहीं कहा जा सकता है।

उत्तर अटलांटिक संधि संगठन (नाटो) के महासचिव जेंस स्टोल्टेनबर्ग ने ब्रसेल्स में बैठक के बाद कहा, हमारे पास ऐसा कोई साक्ष्य नहीं है, जिससे इस मिसाइल हमले को रूस के हमलों से जोड़ा जा सके। नाटो प्रमुख ने कहा कि यह यूक्रेन की गलती भी नहीं थी। इसके लिए अंतत: रूस जिम्मेदार है, जिसने यूक्रेन पर मिसाइल हमला किया था और उसके बाद यूक्रेन ने बचाव में ताबड़तोड़ हर दिशा में मिसाइलें दाग दीं।

उल्लेखनीय है कि पोलैंड अमेरिका के नेतृत्व वाले नाटो का सदस्य देश है। इससे पहले जी 20 देशों की बैठक में इंडोनेशिया में मौजूद अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने कहा था कि उन्हें नहीं लगता कि रूस ने पोलैंड पर मिसाइल हमला किया है।

अमेरिका ने रूस पर आरोपों से किया इनकार
बाद में तीन अमेरिकी अधिकारियों ने मामले की शुरुआती जांच के बाद कहा कि पोलैंड पर गिरी मिसाइल यूक्रेन के सुरक्षा बल ने दागी थी, जो रूसी हमले से बचाव के लिए थी। इससे पहले अमेरिकी खुफिया एजेंसी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने मंगलवार को हमले के तत्काल बाद बयान में रूसी सेना को जिम्मेदार ठहराकर सनसनी पैदा कर दी थी।

उल्लेखनीय है कि यूक्रेन सहित ज्यादातर पूर्व सोवियत देशों के पास तमाम रूसी हथियार और एयर डिफेंस सिस्टम मौजूद हैं। यूक्रेन ने ऐसे ही एक एयर डिफेंस सिस्टम से मंगलवार को मिसाइल दागी जो पोलैंड के सीमावर्ती गांव में जा गिरी थी।

ये भी पढ़ें – सावरकर का अपमान करने वालों को जमीन में गाड़ दिया जाएगा, फडणवीस की चेतावनी

खतरनाक मोड़ पर जा रही जंग : संयुक्त राष्ट्र
पोलैंड पर मिसाइल हमले को लेकर संयुक्त राष्ट्र प्रमुख एंटोनियो गुटेरेस ने चेतावनी देते हुए कहा है कि यूक्रेन जंग को आगे बढ़ने से रोकना होगा। उन्होंने कहा कि यह कदम युद्ध को बढ़ाने वाला हो सकता है। यूक्रेन जंग के बाद पोलैंड पर रूसी मिसाइलों गिरने के बाद गुटेरेस ने कहा कि अब यूक्रेन जंग को आगे बढ़ने से रोकना होगा। उन्होंने कहा कि पोलैंड में मिसाइल दागने वाला कदम जंग को बढ़ाने वाला कदम है।

गौरतलब है कि नौ महीने पूर्व शुरू हुआ यूक्रेन जंग थमने का नाम नहीं ले रहा है। रूसी सेना ने यूक्रेन की राजधानी कीव के रिहायशी इलाकों को निशाना बनाया है। इन हमलों के बीच एक मिसाइल पोलैंड में भी गिरी है। इस हमले में पोलैंड के दो नागरिकों की मौत हो गई, इसके बाद तनाव की स्थिति उत्पन्न हो गई है। इस बीच यूक्रेन के राष्ट्रपति जेलेंस्की के वरिष्ठ सलाहकार ने बुधवार को कहा कि इस युद्ध की शुरुआत से अभी तक मिसाइल द्वारा किए गए सभी हमलों के लिए रूस जिम्मेदार है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here