कवि कुमार विश्वास की गिरफ्तारी पर रोक, उच्च न्यायालय ने पंजाब सरकार को नोटिस जारी कर मांगा जवाब

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के खिलाफ टिप्पणी किए जाने के बाद आप नेता की शिकायत के आधार पर रूपनगर के थाने में एफआईआर दर्ज की गई है।

पंजाब-हरियाणा उच्च न्यायालय ने कवि कुमार विश्वास की गिरफ्तारी पर रोक लगाते हुए राहत प्रदान की है।

थाने में एफआईआर दर्ज
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के खिलाफ टिप्पणी किए जाने के बाद आप नेता की शिकायत के आधार पर रूपनगर के थाने में एफआईआर दर्ज की गई है। रूपनगर पुलिस ने 27 अप्रैल को कुमार विश्वास को पेश होने के लिए बुलाया था लेकिन वे पुलिस के समक्ष पेश होने की बजाए उच्च न्यायालय में चले गए।

ये भी पढ़ें – मौसम की मार से हर कोई बेहाल, ऐसे करें पशुओं की देखभाल

कुमार विश्वास के खिलाफ एफआईआर
उच्च न्यायालय ने 2 मई को इस मामले की सुनवाई करते हुए कुमार विश्वास की गिरफ्तारी पर रोक लगाते हुए पंजाब सरकार को नोटिस जारी कर दिया है। पंजाब सरकार अब कुमार विश्वास के खिलाफ दर्ज की गई एफआईआर को लेकर अपनी रिपोर्ट देगी।

20 अप्रैल को कुमार विश्वास के घर पहुंची थी पुलिस
आम आदमी पार्टी (आप) के पूर्व नेता और जाने माने कवि कुमार विश्वास के वसुंधरा स्थित आवास पर 20 अप्रैल की सुबह पंजाब पुलिस पहुंची थी। अपने आवास पर पंजाब पुलिस के पहुंचने की जानकारी स्वयं कुमार विश्वास ने ट्वीट कर के जरिये दी थी। अपने ट्वीट में कुमार विश्वास ने लिखा था , ”सुबह-सुबह पंजाब पुलिस द्वार पर पधारी है। एक समय, मेरे द्वारा ही पार्टी में शामिल कराए गए @BhagwantMann को आगाह कर रहा हूं कि तुम, दिल्ली में बैठे जिस आदमी को, पंजाब के लोगों की दी हुई ताकत से खेलने दे रहे हो वो एक दिन तुम्हें व पंजाब को भी धोखा देगा। देश मेरी चेतावनी याद रखें!”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here