अमेरिका में बंदूक संस्कृति का लोगों ने इस तरह किया विरोध!

अमेरिका में निर्दोष लोगों और बच्चों पर गोलीबारी की घटनाओं ने यहां के आम लोगों की चिंता बढ़ा दी है।

अमेरिका के लोगों ने सड़कों पर उतरकर बंदूकों के खिलाफ आवाज बुलंद की है। निर्दोष लोगों और बच्चों पर गोलीबारी की घटनाओं से आजिज हजारों लोगों ने 11 जून को राजधानी वाशिंगटन समेत देश के तमाम शहरों में जुलूस निकालकर सरकारी बंदूक नीति का विरोध किया। उन्होंने कानून में ऐसे बदलाव की मांग की जिससे हथियारों के दुरुपयोग और हिंसा पर रोक लग सके।

पार्कलैंड के हाईस्कूल में हुई गोलीबारी
इन लोगों में मई में टेक्सास के स्कूल में हुई गोलीबारी की घटना को लेकर खासा गुस्सा और दुख दिखा। इस घटना में ज्यादातर बच्चे मारे गए थे। मार्च फॉर अवर लाइव्स के तत्वावधान में निकाले गए इस जुलूस का आयोजन बंदूक से बचाव करने की मांग वाले समूह ने किया। इस समूह में 2018 में फ्लोरिडा के पार्कलैंड के हाईस्कूल में हुई गोलीबारी की घटना के पीड़ित हैं। इस समूह ने अमेरिका में 11 जून को 450 शहरों और कस्बों में जुलूस निकालकर बंदूक नीति में बदलाव की मांग की। समूह अपने उद्देश्य में काफी हद तक सफल भी रहा।

ये भी पढ़ें –  भाजपा सरकार का विरोध, भेंट चढ़ गई नुपुर शर्मा और नवीन जिंदल

वाशिंगटन में हल्की बारिश के बावजूद लोग नेशनल माल के नजदीक एकत्र हुए और वाशिंगटन स्मारक तक गए। अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन ने टेक्सास और अन्य घटनाओं का उल्लेख करके संसद से असाल्ट वेपन के खरीदार की पृष्ठभूमि की जानकारी करने और सतर्कता वाले अन्य कदम उठाने वाले बदलावों का अनुरोध किया है। बाइडन ने 11 जून को निकाले गए जुलूस का समर्थन किया है। उन्होंने कहा है कि नौजवानों ने सड़क पर निकलकर संसद को देश के बहुसंख्य लोगों का संदेश दिया है। वह उनके संदेश का समर्थन करते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here