सर्वोच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश बने एन.वी रमना

सर्वोच्च न्यायालय के 48वें मुख्य न्यायाधीश के रूप में एन.वी रमना ने कार्यभार ग्रहण किया। पहले इस स्थान पर न्यायाधीश एस.ए बोबडे थे जो 23 अप्रैल, 2021 को सेवानिवृत्त हो गए थे।

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने न्यायाधीश एन.वी रमना को सर्वोच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश पद की शपथ दिलाई। न्यायाधीश रमना देश के 48वें मुख्य न्यायाधीश हैं। उनका कार्यकाल 26 अगस्त, 2022 तक रहेगा। रमना दिल्ली उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश रह चुके हैं। 17 फरवरी, 2014 को उनकी पदोन्नति सर्वोच्च न्यायालय में हो गई थी।

ये भी पढ़ें – जानिये, मुंबई में वाहनों के लिए जारी कलर कोड सिस्टम क्यों हुआ फेल?

कार्यवृत्त

  • एन.वी रमना का जन्म 27 अगस्त, 1957 को आंध्र प्रदेश के कृष्णा जिले के पोन्नवरम गांव में हुआ था।
  • 10 फरवरी, 1983 को अधिवक्ता के रूप में प्रवेश लिया। इसके बाद आंध्र प्रदेश के विभिन्न न्यायालयों और सर्वोच्च न्यायालय में प्रैक्टिस की
  • आंध्र प्रदेश के अतिरिक्त महाधिवक्ता के रूप में संभाल कार्य
  • 27 जून, 2000 को आंध्र प्रदेश उच्च न्यायालय के स्थाई न्यायाधीश के रुप में हुई निक्ति
  • 10 मार्च, 2013 से 20 मई, 2013 तक आंध्र प्रदेश उच्च न्यायालय के रहे कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश
  • 2 सितंबर 2013 को दिल्ली हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश के रुप में पदोन्नत किया गया

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here