नोटबंदी बेअसर? जानिये, कहां से बरामद किए गए, कितने मूल्य के नकली नोट

तीन वर्षों में देश भर में कुल इस तरह के 385 मामले अलग-अलग पुलिस थानों में दर्ज कराए गए। नकली नोटों के पकड़े जाने के सबसे ज्यादा मामला पश्चिम बंगाल में सामने आए।

मोदी सरकार ने यह सोचकर पुराने नोटों को बंद कर नए नोट चलन में उतारे थे कि देश में नकली नोटों की बाढ़ को रोका जा सकेगा, लेकिन लगता है सरकार की यह दूरदर्शी योजना बहुत ज्यादा कारगर साबित नहीं हुई और आज भी देश में नकली नोटों का चलन धड़ल्ले से जारी है। इसका खुलासा एनसीआरबी की नई रिपोर्ट से हुआ है।

एनआरसीआरबी के रिपोर्ट के अनुसार महाराष्ट्र में एक साल में 83.61 करोड़ रुपए मूल्य के नकली नोट बरामद किए गए हैं और देश में नकली करेंसी बरामदगी 190 प्रतिशत बढ़ी है।

महाराष्ट्र में 83.61 करोड़ के नकली नोट जब्त
हैरान करने वाली बात यह है कि नोटबंदी के बाद केवल महाराष्ट्र में 2020 में 97 लोगों के पास से 6,99,495 नकली नोट बरामद किए गए। इनका कुल मूल्य 83.61 करोड़ रुपए है। इसके साथ ही राजस्थान में 27.35 करोड़ मूल्य के 6,190 नकली नोट बरामद किए गए। इन मामलों में कुल 633 आरोपियों को दबोचा गया है।

ये भी पढ़ेंः इसलिए ‘वसुधैव कुटुंबकम’ का आदर्श होगा अयोध्या का श्रीराम मंदिर

बरामद किए गए नकली नोट
2020-8,34,947 नकली नोट, मूल्य 92,17,80,480
2019-2,87,404 नकली नोट, मूल्य 25,39,09,130
2018-257,243 नकली नोट, मूल्य 17,95, 36,992

शुरुआती वर्षों में रहा असर
आंकड़ो को देखने के बाद यह स्पष्ट हो जाता है कि नोटबंदी के शुरुआती वर्षों में नकली नोटों का चलन कम रहा, लेकिन समय के साथ बाजार में उसका चलन बढ़ रहा है।

देश में कुल 385 मामले दर्ज
तीन वर्षों में देश भर में कुल इस तरह के 385 मामले अलग-अलग पुलिस थानों में दर्ज कराए गए। नकली नोटों के पकड़े जाने के सबसे ज्यादा मामला पश्चिम बंगाल में सामने आए। इनमें कुल 111 लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार किया । यहां बरामद किए गए कुल 24,227 नकली नोटों का मूल्य 2.46 करोड़ रुपए था।

अन्य राज्यों का हाल
उत्तर प्रदेश में 52 मामले दर्ज हुए, जिसमें 55 लोगों को गिरफ्तार किया गया। इनसे कुल 38.79 लाख मूल्य के नोट बरामद किए गए। गुजरात में कुल 23 मामलों में 32 लोगों की गिरफ्तारी के साथ 87.96 लाख रुपए मूल्य के नोट जब्त किए गए। इनको आलावा देश के ज्यादातर प्रदेशों से नकली नोट जब्त किए गए, जिनका मूल्य दो लाख से एक करोड़ रुपए तक था। मात्र राजस्थान में बरामद किए नकली नोटों का मूल्य 27.35 करोड़ रुपए यानी काफी अधिक था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here