‘तांडव’ को सर्वोच्च न्यायाल ने ऐसे दिया झटका!

वेब सीरीज तांडव की अपील पर सर्वोच्च न्यायालय ने अपने फैसले में अग्रिम जमानत या एफआईआर रद्द कराने के लिए हाई कोर्ट में जाने की सलाह दी। न्यायालय ने अमेजन और वेबसीरीज के निर्माताओं की ओर से दायर याचिकाओं पर 27 जनवरी को सुनवाई की।

वेब सीरीज तांडव की टीम को सर्वोच्च न्यायालय से करारा झटका लगा है। न्यायालय ने अभिनेता जीशान अयूब, अमेजन प्राइम और शो के निर्माताओं को गिरफ्तारी से सुरक्षा देने की अपील ठुकरा दी है और उन्हें राहत देने से इनकार कर दिया है। इस वेब सीरीज को बॉलीवुड डाइरेक्टर अली अब्बास जाफर ने निर्देशित किया है। इसमें हिंदू-देवताओं के अपमान करने का आरोप लगाते हुए देश के कई राज्यों में मामले दर्ज कराए गए हैं।

सर्वोच्च न्यायाल ने दी सलाह
वेब सीरीज की अपील पर सर्वोच्च न्यायालय ने अपने फैसले में अग्रिम जमानत या एफआईआर रद्द कराने के लिए हाई कोर्ट में जाने की सलाह दी। न्यायालय ने अमेजन और वेब सीरीज के निर्माताओं की ओर से दायर याचिकाओं पर 27 जनवरी को सुनवाई की। इन याचिकाओं में निर्देशक अली अब्बास जाफर समेत कई लोगों के खिलाफ दर्ज एफआईआर को रद्द किए जाने की मांग की गई थी।

ये खबर भी पढ़ेंः ‘तांडव’ पर क्यों मचा है ‘तांडव’?

वकीलों ने दी दलील
वेब सीरीज से जुड़े लोगों की ओर से कोर्ट में वरिष्ठ वकील फली एस. नरीमन, मुकुल रोहतगी, और सिद्धार्थ लुथरा पहुंचे थे। नरीमन ने कहा कि हमने माफी भेज दी है लेकिन 6 राज्यों मे एफआईआर दर्ज की गई हैं। रोज नई एफआईआर दर्ज कराई जा रही है। इस पर आदेश जारी किया जाए और किसी प्रकार की कार्रवाई करने से सुरक्षा प्रदान की जाए। उन्होंने कहा कि वेब सीरीज में कुछ भी आपत्तिजनक नहीं है। जिन दृश्यों से लोगों की भावनाओं को ठेस पहुंची थी, उन्हें हमने हटा दिया है। इसके बाद भी 6 राज्यों मे एफआईआर दर्ज की गई है। उन्होंने सभी राज्यों की एफआईआर को मुंबई लाने और ट्रायल चलाने की मांग की। उन्होंने कहा कि हम सभी राज्यों में जाकर ट्रायल्स का सामना नहीं कर सकते।

ये खबर भी पढ़ेंः ‘तांडव’ के निर्देशक के घर क्यों पहुंची यूपी पुलिस.. जानिए

विवादित सीन-संवाद हटाए गए
आपको बता दें कि लोगों के विरोध और आपत्ति के बाद वेब सीरीज से विवादित दृश्यों और संवादों को हटा दिया गया है। इसके साथ ही निर्देशक अली अब्बास जफर नें लोगों की भावनाओं को ठेस पहुचे के लिए बिना शर्त माफी भी मांग ली है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here