“नवाब मलिक रावण है, उसके 10 मुंह…..!” समीर वानखेड़े के पिता ने लगाए सनसनीखेज आरोप

25 अक्टूबर को समीर वानखेड़े की पत्नी क्रांति रेडकर के सामने आने के बाद अब समीर के पिता भी इस लड़ाई में कूद पड़े हैं। उन्होंने राकांपा प्रवक्ता नवाब मलिक पर निशाना साधा है।

 नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो के क्षेत्रीय निदेशक समीर वानखेड़े और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी प्रवक्ता तथा महाराष्ट्र के अल्पसंख्यक मंत्री नवाब मलिक के बीच जारी वाद-विवाद अब पारिवारिक झगड़े का रुप धारण करता जा रहा है। 25 अक्टूबर को वानखेड़े की पत्नी क्रांति रेडकर के सामने आने के बाद अब समीर के पिता भी इस लड़ाई में कूद पड़े हैं। उन्होंने कहा है कि मेरा नाम ज्ञानदेव वानखेड़े है, दाऊद नहीं।

बता दें कि नवाब मलिक ने दावा किया है समीर वानखेड़े के एक सर्टिफिकेट में समीर वानखेड़े के पिता का नाम दाऊद लिखा है। इस सर्फिफिकेट को उन्होंने ट्वीट कर यह दावा किया है।

समीर वानखेड़े ने साधा मलिक पर निशाना
समीर वानखेड़े के पिता ने इन आरोपों को गलत बताते हुए नवाब मलिक पर पलटवार किया है। उन्होंने एक न्यूज चैनल से बात करते हुए दावा किया, ‘मेरा नाम ज्ञानदेव वानखेड़े है, दाऊद नहीं। मेरे पास सारे सबूत हैं। एसएससी, बीए, पोस्ट ग्रेजुएट,एलएलबी के सर्टिफिकेट मेरे पास हैं। इन सबमें मेरा नाम ज्ञानदेव वानखेड़े लिखा है। मुझे नहीं पता कि ये दाऊद नाम कहां से आ गया। उन्होंने इसमें नवाब मलिक पर फर्जीवाड़ा करने का आरोप लगाया।’

ये भी पढ़ेंः मां बहन पर मलिक को उत्तर, वानखेडे की पत्नी बोली हम हिंदू हैं

मलिक ले रहा है बदला
समीर वानखेड़े ने कहा कि मेरे बेटे ने नवाब मलिक के दामाद को गिरफ्तार किया था। वो 8-10 महीने जेल में बंद था। इससे पहले मलिक कुछ नहीं बोला, लेकिन अब उसका दामाद बाहर आ गया है तो वो बदला ले रहा है इसलिए इस तरह के आरोप लगा रहा है।

दिखाए दस्तावेज
उन्होंने अपने नाम के सर्टिफिकेट दिखाते हुए कहा कि आधार कार्ड, पैन कार्ड, वोटर आईडी समेत सभी सरकारी कागजातों में मेरा नाम ज्ञानदेव वानखेड़ लिखा है। ज्ञानदवे वानखेड़े ने कहा कि समीर का जो जाति प्रमाण पत्र दिखाया जा रहा है, वो बिलकुल गलत है। ये सभी उसी का फर्जीवाड़ा है। वह रावण है, जिसके 10 मुंह थे। उसके 10 लंबे-लंबे हाथ हैं और वो कुछ भी बोल- कर सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here