द्वारका एसिड अटैक केसः एक हिरासत में, आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए कई टीमें गठित,

दिल्ली में 14 दिसंबर को 17 साल की लड़की पर तेजाब फेंकने की घटना का राष्ट्रीय महिला आयोग ने गंभीरता के साथ संज्ञान लिया है

दिल्ली के द्वारका जिले में 12वीं कक्षा की छात्रा पर एसिड अटैक मामले में आरोपित की गिरफ्तारी को लेकर पुलिस की कई टीमें लगा दी गई हैं। शुरुआती जांच के बाद एक व्यक्ति को हिरासत में लिया गया है, जबकि मुख्य आरोपित की तलाश में कई टीमें छापा मार रही हैं।

सीसीटीवी फुटेज के आधार पर बाइक सवार आरोपितों की पहचान की कोशिश की जा रही है। जिस बाइक से वारदात को अंजाम दिया गया है, उसके बारे में भी पता लगाया जा रहा है। पुलिस की टीम इस मामले में सीसीटीवी फुटेज के साथ-साथ टेक्निकल सर्विलांस और लोकल इंटेलिजेंस का भी मदद ले रही है।

आरोपियों का बचना है मुश्किल
डीसीपी एम हर्षवर्धन के अनुसार आरोपित बाइक सवार पीड़ित लड़की का पीछा कहां से कर रहे थे, इसके लिए उस रूट को भी चेक किया जा रहा है। वारदात को अंजाम देने के बाद बाइक सवार किस तरफ भागे और कहां तक उनका फुटेज मिल रहा है, इन सब एंगल से भी पुलिस की टीमें जांच में लगी है। पता चला है कि नीले रंग की बाइक पर दो लड़के सवार थे, जिन्होंने लड़की पर एसिड फेंका है। वारदात के समय लड़की की छोटी बहन भी साथ में थी। पीड़ित लड़की को तत्काल सफदरजंग हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया।

महिला आयोग ने लिया संज्ञान
दिल्ली में 14 दिसंबर को 17 साल की लड़की पर तेजाब फेंकने की घटना का राष्ट्रीय महिला आयोग ने गंभीरता के साथ संज्ञान लिया है। राजधानी में हुई इस गंभीर घटना पर राष्ट्रीय महिला आयोग ने संज्ञान लेते हुए मौके पर जांच पड़ताल के लिए अपनी टीम भेजी है। आयोग की अध्यक्ष रेखा शर्मा ने कहा कि चूंकि लड़की की उम्र 17 साल है, इसलिए इस मामले की जांच राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग भी करेगा। चूंकि एसिड अटैक की घटनाओं की जांच के लिए आयोग भी एक नोडल एजेंसी है, इसलिए इस मामले की जांच के लिए आयोग ने अपनी एक टीम रवाना कर दी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here